Author admin

मीडिया दरबार के मॉडरेटर 1979 से पत्रकारिता से जुड़े हैं. एक साप्ताहिक से शुरूआत के बाद अस्सी के दशक में स्वतंत्र पत्रकार बतौर खोजी पत्रकारिता में कदम रखा, हिंदी के अधिकांश राष्ट्रीय अख़बारों में हस्ताक्षर. उसी दौरान राजस्थान के अजमेर जिले के एक सशक्त राजनैतिक परिवार द्वारा एक युवती के साथ किये गए खिलवाड़ पर नवभारत टाइम्स के लिए लिखी रिपोर्ट वरिष्ठ पत्रकार श्री मिलाप चंद डंडिया की पुस्तक "मुखौटों के पीछे - असली चेहरों को उजागर करते पचास वर्ष" में भी संकलित की गयी है. कुछ समय के लिए चौथी दुनियां के मुख्य उपसंपादक रहे किन्तु नौकरी कर पाने के लक्खन न होने से तेईस दिन में ही चौथी दुनिया को अलविदा कह आये. नब्बे के दशक से पिछले दशक तक दूरदर्शन पर समसामयिक विषयों पर प्रायोजित श्रेणी में कार्यक्रम बनाते रहे. अब वैकल्पिक मीडिया पर सक्रिय.

मीडिया
जयपुर के पत्रकारों ने मारपीट के मामले में संघर्ष में रचा इतिहास..
0

आरोपियों से अखबारों में विज्ञापन के जरिये मंगवाई माफ़ी.. जयपुर। जयपुर के पत्रकारों ने अपने साथियों के साथ मारपीट के…

मनोरंजन
रोज़ाना बाहुबली की अद्वितीय लोकप्रियता..
0

-अजय ब्रह्मात्‍मज॥ इस सदी में ऐसी कोई भारतीय फिल्‍म नहीं दिखती, जिसने पूरे देश के दर्शकों को समान रूप से…

राजनीति
एक शहीद के बेटे की चिट्ठी: मरते हैं पिता, बचते हैं देश..
0

-प्रदीप अवस्थी॥ मेरे पिता चले गए… कुछ दिन पहले सुकमा में कुछ पिता, भाई, बेटे चले गए और ये लिखना…

देश
सैनिक की जान बचाना देशभक्ति है – उसे मरने देना नही..
0

-प्रशांत टण्डन॥ ऐसा लगता है कि सरकार, मीडिया और सोशल मीडिया में बहुत से लोग इस बात का इंतज़ार करते…

अपराध
उत्तर प्रदेश में भ्रष्टाचार के CBI जाँच के पात्र कुछ बड़े घोटाले..
0

IAS सूर्य प्रताप सिंह उत्तर प्रदेश में प्रमुख पदों पर रहे हैं और विभिन्न सरकारों के काम को ही नहीं…

अपराध
क्या कार में डांस कर रही लड़की गुरमेहर है?
0

-अदिति माल्या॥ सोशल मीडिया पर साझा किए जा रहे एक वीडियो में एक नाचती-गाती युवती  दिख रही है जिसके गुरमेहर…

मीडिया
रवीश कुमार के दिखाये गये फैक्ट्स को कोई गलत साबित करे..
1

वामपंथ की कोई बच्चेदानी नही होती है.. -प्रशांत टण्डन॥ रवीश कुमार में मामले में कतई विचलित नही हूँ. विचलित तब…

मीडिया
भाजपा की वैसे ही रवीश से बौखलाहट भरी खुन्नस है..
0

आलोचक उनके लिए दुश्मन होता है; ‘दुश्मनी’ निकालने का उनके पास एक ही ज़रिया है कि आलोचक को बदनाम…

कला व साहित्य
सामाजिक जड़ता के विरुद्ध हिन्दी रंगमंच की बड़ी भूमिका..
0

हिन्दू कालेज में ‘जनता पागल हो गई है’ तथा ‘खोल दो’ का मंचन.. -चंचल सचान॥ दिल्ली। हिन्दू कालेज की हिन्दी…

शिक्षा
“लर्न इंग्लिश क्विकली” मोबाइल एप्प का लॉन्च..
0

“ऑल्टर ज्ञान”, जो मोबाइल एप्लीकेशन के जरिए भाषा सीखने के लिए एक प्लेटफॉर्म है, ने हाल ही में “लर्न इंग्लिश…

1 2 3 235