Loading

अभागे ओम पुरी का असली दर्द..

-निरंजन परिहार|| ओम पुरी की मौत पर उस दिन नंदिता पुरी अगर बिलख बिलख कर रुदाली के अवतार में रुदन – क्रंदन करती नहीं दिखती, तो ओम पुरी की जिंदगी पर एक बार फिर नए…

नोटबंदी पर संसदीय समिति ने RBI गवर्नर से…

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) गवर्नर उर्जित पटेल से संसद की लोक लेखा समिति (PAC) ने नोटबंदी के फैसले को लेकर 10 सवाल पूछे हैं और 20 जनवरी को अपने समक्ष पेश होने के लिए…

मी लॉर्ड, कम-से-कम स्वाधीन परिवेश के जीवन को…

-ओम थानवी॥ राष्ट्रगान और तिरंगा हमारा गौरव हैं, हम आज़ाद हैं इसकी मुखर गवाही। लेकिन उसे लेकर क्या इन दिनों हम नाहक फ़िक़्रमंद नहीं हुए जा रहे? अब सर्वोच्च न्यायालय भी जैसे इस फ़िक़्र में…

इटली में होटल में ठहरें मुफ्त में.. शर्तें…

-दुर्गाप्रसाद अग्रवाल॥ विकट समय में एक अच्छी ख़बर. इटली में कुछ होटल आपको अपने यहां मुफ्त में ठहरने का ऑफर दे रहे हैं. लेकिन आप वहां जाने के लिए तैयारियां शुरु करें उससे पहले बारीक…

28 को भारत बंद की घोषणा किसी ने…

-जीतेन्द्र कुमार|| आपको यह पढ़कर ताज्जुब होगा। लेकिन आपके घर में अख़बार आता है, पिछले दस दिन का अख़बार देख लें। विपक्ष के किसी नेता का भारत बंद का आह्वान देखने को नहीं मिलेगा। भारत…

संघ क्यों रहे नरेंद्र मोदी का गिरवी..

-हरि शंकर व्यास॥ आरएसएस उर्फ राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने नरेंद्र मोदी को बनाया है न कि नरेंद्र मोदी ने संघ को! इसलिए यह चिंता फिजूल है कि नरेंद्र मोदी यदि फेल होते है तो संघ…

Loading

ब्लैक लिस्टेड करेंसी किंग कंपनी डे ला रु…

-अखिलेश अखिल॥ हम नहीं जानते कि हमारी सरकार नोटबंदी के जरिये हमारा कल्याण कर रही है या फिर कोई राजनितिक और आर्थिक खेल कर रही है। देश की जनता को मोदी जी पर यकीं है।…

विध्वंस के स्तूप बनाते मोदीजी..

-जगदीश्वर चतुर्वेदी॥ पीएम मोदी की विशेषता है जो कहते हैं उससे एकदम उलटा आचरण करते हैं,नोटबंदी उनकी इसी खासियत का परिणाम है।पहले वायदा किया था कि पांच सौ और हजार के नोट 30दिसम्बर तक बदले…

धोखा देना जिनकी फितरत है..

नोटबंदी का एकतरफा निर्णय लेने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश की जनता को बरगलाने के लिए किया अचानक घोषणा वाला नाटक.. -सत्येंद्र मुरली॥ - 8 नवंबर 2016 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का 'राष्ट्र…

सिर्फ 6 फीसदी संदिग्ध ‘कैश’ के लिये ‘राष्ट्रवादी…

-उर्मिलेश उर्मिल|| भारत में कालेधन, भ्रष्टाचार और आतंकी-फंडिंग पर निर्णायक अंकुश लगे, यह वे सभी लोग चाहेंगे, जो स्वयं कालाधन-धारी नहीं, जो भ्रष्टाचारी नहीं या जो आतंकी नहीं! कौन नहीं जानता कि कालेधन का बड़ा…

नागरिको, अग्नि-परीक्षा दो..

पैसे न होने की हताशा में पचास से ज़्यादा मौतें हो जाने का न सरकार को अफ़सोस है, न बीजेपी को. सरकार बता रही है कि जो हो रहा है, वह 'राष्ट्र हित' में है.…

सवालों से किसे नफ़रत हो सकती है.?

-रवीश कुमार॥ सवाल करने की संस्कृति से किसे नफरत हो सकती है? क्या जवाब देने वालों के पास कोई जवाब नहीं है ? जिसके पास जवाब नहीं होता, वही सवाल से चिढ़ता है। वहीं हिंसा…