Subscribe to RSS
कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे mediadarbar@gmail.com पर भेजें | इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है। पाठक चाहे आलेखों से सहमत हों या असहमत, किसी भी लेख पर टिप्पणी करने को स्वतंत्र हैं। हम उन टिप्पणियों को बिना किसी भेद-भाव के निडरता से प्रकाशित भी करते हैं चाहे वह हमारी आलोचना ही क्यों न हो। आपसे अनुरोध है कि टिप्पणियों की भाषा संयत एवं शालीन रखें -मॉडरेटर

अपराध back to homepage

हत्यारी बहनों को फांसी, पहली बार महिला को मिली ये सजा.. हत्यारी बहनों को फांसी, पहली बार महिला को मिली ये सजा..(2)

दो बहनें, जिन्होंने तेरह बच्चों को अगवा कर के उनसे जेब कतरों का काम करवाया और फिर मौत के घाट उतार दिया, भारत में फांसी की सजा पाने वाली महिलाएं बनेंगी.रेणुका शिंदे और सीमा गावित भारत में पहली बार फांसी की सजा पाने वाली महिलाएं हैं जिन्हें तेरह बच्चों की जघन्य सीरियल किलिंग के मामले में दोषी पाया गया है. इन्हें तेरह हत्याओं और दस अपहरण का दोषी पाया गया है. साल 2001 में पकडे जाने के तरह साल बाद ये फैसला आया है. इन्हें राष्ट्रपति द्वारा दया याचिका ख़ारिज किये जाने के बाद पुणे की यरवदा जेल में फांसी दी जाएगी.

इस  फैसले ने उन घटनाओ की याद ताज़ा कर दी है जिसमें इन दोनों ने हत्याओं की झड़ी लगा दी थी. इनमें एक दो वर्षीया बालक की बिजली के खम्भे पर पटक कर की गयी निर्मम हत्या भी है.

हत्या के सिलसिले  सिलसिले शुरू करने वाली बहने उस वक़्त खुद भी बालिग नहीं थीं. उनकी उम्र 15 और 17 साल थी. इन्हें इनकी माता के द्वारा अपराध की दुनिया में जोड़ा गया था और ये सभी मिल कर महाराष्ट्र की छोटे शहरों में जेब काटने का काम किया करती थी. इसके बाद ये पुणे, नासिक, कोल्हौर आदि बड़े शहरों में जा कर जेब काटने लगी और यही पर उन्होंने बच्चे अगवा करने का काम शुरू किया. इन बहनों का आखिरी शिकार इनकी माँ की बनाई योजना का शिकार था. जिसे  इन्होने बदला लेने के मकसद से अपने पिता, जिसने इनकी माँ के कारनामों से दुखी हो कर उसे त्याग कर दूसरी महिला से विवाह कर लिया था, के नौ वर्षीया बच्चे को अगवा कर के क़त्ल कर दिया था. इसके बाद पीड़ित महिला के शक ज़ाहिर करने पर इन्हें गिरफ्तार कर लिया गया जहां कुछ समय बाद जेल में इनकी माँ अंजनाबाई की मौत हो गयी थी.

संबंधित खबरें:

  • संबंधित खबरें उपलब्ध नहीं
पत्नी को खुश करने के लिए पड़ोसन से किया दुष्कर्म.. पत्नी को खुश करने के लिए पड़ोसन से किया दुष्कर्म..(1)

बेंगलुरु. पत्नी की लाइव सेक्स देखने इच्छा की पूर्ति के लिए 27 साल के केबल ऑपरेटर के पड़ोसन का कथित तौर पर रेप करने का मामला सामने आया है. घटना बेंगलुरु की है. पुलिस के मुताबिक, आरोपी की पत्नी ‘लाइव सेक्स’ देखना चाहती थी और वारदात को अंजाम देने का सारा इंतजाम भी उसी ने किया. पीड़ित महिला आरोपी की पत्नी की सहेली है. पुलिस ने आरोपी दिलीप और उसकी पत्नी आशा को गिरफ्तार कर मामला दर्ज कर लिया है.

पुलिस के अनुसार घटना 27 जुलाई की है और इसे आरोपी ने अपने ही घर में अंजाम दिया. पीड़ित ने 11 अगस्त को इस बारे में तब पुलिस शिकायत दर्ज कराई, जब घटना पति के संज्ञान में आ गई. जांच अधिकारी का कहना है कि पॉर्न को लेकर आशा के चर्चे आस-पड़ोस में रहे हैं. पीड़ित आशा की करीबी दोस्त भी थी और पास वाले घर में ही रहती थी. आशा अपनी फैन्टसी को लेकर पहले भी उससे चर्चा करती रहती थी. घटना की जानकारी रखने वाले कई लोगों का कहना है कि आशा पीड़ित को अकसर पॉर्न देखने के लिए कहती रहती थी. आशा ने पीड़ित को पहले भी ‘लाइव सेक्स’ देखने की इच्छा बताई थी. इसके बाद से पीड़ित ने आशा से दूरी बरतनी शुरू कर दी थी.

आशा ने 27 जुलाई को रात नौ बजे घर में किसी काम के बहाने पीड़ित को बुला लिया. आशा ने पीड़ित से उसके पति के साथ ‘सहयोग’ करने के लिए कहा ताकि वह ‘लाइव सेक्स’ देख सके. आरोपी पति-पत्नी ने पीड़ित को एक कमरे में बंद कर दिया और उसका रेप किया. आरोपी दंपती ने पीड़ित को धमकी दी कि यदि उसने इस घटना के बारे में किसी को बताया तो उसके पति की हत्या कर दी जाएगी. इसके बाद आशा ने आरोपी दंपती से दूरी बना ली. लेकिन 11 अगस्त को एक बार फिर आशा ने पीड़ित को ‘सहयोग’ करने के लिए कहा. इस बार पीड़ित ने सारा मामला अपने पति के बता दिया. इसके बाद पीड़ित ने शिकायत दर्ज कराई और अगले ही दिन पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया. आरोपी दंपती के खिलाफ आईपीसी की धाराओं के तहत मामला दर्ज कर जांच की जा रही है.

(भास्कर)

संबंधित खबरें:

  • संबंधित खबरें उपलब्ध नहीं
साध्वी प्रज्ञा के प्रति यौन आकर्षण के चलते हुयी थी संघ प्रचारक जोशी की हत्या.. साध्वी प्रज्ञा के प्रति यौन आकर्षण के चलते हुयी थी संघ प्रचारक जोशी की हत्या..(0)

संघ प्रचारक सुनील जोशी की साल 2007 में हुयी हत्या के सिलसिले में जांच करने वाली राष्ट्रीय  जांच एजेंसी(एनआईए)  की टीम ने एक सनसनीखेज खुलासा किया है. एनआईए के अनुसार हत्या की वजह जोशी के साध्वी के प्रति यौन आकर्षण हो सकती है. रिपोर्ट के मुताबिक, जांच एजेंसी मामले में अगले हफ्ते चार्जशीट दाखिल करने वाली है और इसमें साध्‍वी का नाम बतौर आरोपी शामिल किया जा सकता है. मध्य प्रदेश पुलिस देवास में साध्वी का नाम 2008 के मालेगांव बम धमाकों के आरोपी के तौर पर पहले ही दर्ज आकर चुकी है.

एनआईए ने कहा कि जोशी का प्रज्ञा ठाकुर के प्रति तीव्र यौन आकर्षण था जो उनकी मौत की वजह बना. इसके अलावा आतंकी योजनाओं में राजदार होना भी उनके खिलाफ गया. एनआईए मामले में जो चार्टशीट दाखिल करने वाली है उसमें इस बात का जिक्र हो सकता है कि अजमेर ब्‍लास्‍ट के बारे में जोशी द्वारा जानकारियों को सार्वजनिक करने से रोकने के लिए प्रज्ञा ने आनंदराज कटारिया को करीब 10 दिनों तक अपने घर में रखा था. गौरतलब है कि देवास पुलिस ने कटारिया को आरोपी बनाया था, लेकिन जोशी मर्डर मामले में एनआईए की अंतिम लिस्‍ट में उनका नाम शामिल नहीं किया गया था.

जोशी हत्या मामले में मालेगांव ब्लास्ट से सम्बंधित गिरफ्तारियों के बाद साल 2011 में नया मोड़ आया जब मध्य प्रदेश के महू से गिरफ्तारिय हुयी और देवास पुलिस ने चार्जशीट दाखिल की. एनआईए गिरफ्तार किए गए चार लोगों- राजेंद्र चौधरी, लोकेश शर्मा, जीतेंद्र शर्मा (भारतीय जनता युवा मोर्चा के नेता) और बलबीर सिंह को अब प्रज्ञा ठाकुर के साथ जोशी हत्‍याकांड मामले में आरोपी बनाएगी. जांच एजेंसी का दावा है कि राजेंद्र और लोकेश ने ही 29 दिसंबर 2007 की रात जोशी का कत्‍ल किया था. जीतेंद्र शर्मा ने इसके लिए पिस्‍तौल मुहैया कराई थी और बलबीर सिंह ने इसे छिपाया था. यही नहीं एनआईए के अनुसार लोकेश, राजेंद्र और जोशी एक बड़ी साजिश रच रहे थे और मुसलमानों को निशाना बनाने की फ़िराक में थे.

 

 

 

संबंधित खबरें:

  • संबंधित खबरें उपलब्ध नहीं
फर्जी खबर छापने के लिए “पर्वतजन” के संपादक और चीफ ऑफ ब्यूरो को सजा.. फर्जी खबर छापने के लिए “पर्वतजन” के संपादक और चीफ ऑफ ब्यूरो को सजा..(0)

संबंधित खबरें:

  • संबंधित खबरें उपलब्ध नहीं
जेल में रोजाना 70000 का खर्च है सहारा श्री का … जेल में रोजाना 70000 का खर्च है सहारा श्री का …(0)

सुब्रत रॉय को जेल में बैठ कर अपने होटलों का सौदा करने की अनुमति देना महंगा सौदा साबित हो रहा है. सहारा ग्रुप के प्रमुख सुब्रत रॉय को सुप्रीम कोर्ट की तरफ जेल से उनके तीन होटलों के सौदे करने के लिए लिए कांफ्रेंस हॉल मुहैया करवाने का आदेश दिया गया था. उन्हें जिस विशेष सेल में रखा गया है वहाँ आठ एयर कंडीशनर लगे हैं. इसके साथ उन्हें और उनके तीन साथियों को सोने के लिए अलग कमरे दिए गए हैं. जेल अधिकारी ने बताया कि इन सब पर रोजाना सत्तर हज़ार से अधिक खर्च हो रहे हैं. 

जेल अधिकारी के अनुसार, तिहाड़ के मुख्य परिसर स्थित कोर्ट काम्प्लेक्स को ही उनकी विशेष सेल में तब्दील किया गया है. सुरक्षा में 45 अफसर और जवान तैनात हैं जो तीन शिफ्ट में ड्यूटी करते हैं. इसके अतिरिक्त निगरानी के लिए पांच सीसीटीवी कैमर भी लगाये गए हैं. जब तक वे विशेष सेल में रहेंगे तब तक कैदियों के लिए लगने वाली स्पेशल कोर्ट निलंबित रहेगी. हालाँकि इस पूरी प्रक्रिया में जो भी खर्च आएगा वो सहारा ग्रुप वहन करेगा. इसमें एसी का खर्च, सेमी ओपन कैंटीन का खाना. मिनिरल वाटर, विडियो कांफ्रेसिंग सुविधा, इंटरनेशनल कालिंग आदि शामिल हैं.

इसके अतिरिक्त इस खर्च में ड्यूटी दे रहे अफसरों और जवानों की तनख्वाह और दिल्ली आर्म्ड पुलिस का खर्च भी शामिल होगा. ज्ञात हो कि सर्वोच्च न्यायलय के आदेशानुसार रॉय को इस विशेष सेल में स्थानांतरित किया गया था. ऐसा बताया जा रहा है कि होटल की बिक्री के सिलसिले में उनसे मिलने आने वालों की संख्या रोज़ दस से पंद्रह के बीच रहती है.

संबंधित खबरें:

  • संबंधित खबरें उपलब्ध नहीं
स्नूपगेट काण्ड में सुप्रीम कोर्ट मोदी के साथ … स्नूपगेट काण्ड में सुप्रीम कोर्ट मोदी के साथ …(0)

गुजरात के विवादित जासूसी काण्ड मामले में सुप्रीम कोर्ट ने नरेन्द्र मोदी को बड़ी राहत दी है. सर्वोच्च न्यायलय ने इस मामले में दखल देने से इंकार कर दिया है और भारतीय प्रशासनिक सेवा के ससपेंड किये गए अधिकारी प्रदीप शर्मा के खिलाफ आपराधिक मामलों की जांच सीबीआई को सौंपने की याचिका पर सुनवाई पूरी हो गयी है.

न्यायमूर्ति रंजना प्रकाश देसाई की अध्यक्षता वाली खंडपीठ ने मामले की सुनवाई की शुरुआत में ही वकील को जासूसी प्रकरण से जुड़े मुद्दे उठाने से ये कह कर रोक दिया कि वे अपनी बहस का बिंदु जांच में राज्य पुलिस की जांच के पक्षपाती होने या न होने तक ही सीमित रखें. वो अदालत को ये बताएं कि राज्य की जांच किस तरह से पक्षपाती है.

न्यायाधीशों ने स्पष्ट किया कि उनका किसी व्यक्ति या केन्द्र में सत्तारूढ़ सरकार से कोई सरोकार नहीं है और वे कानून की किताबों के अनुसार ही चलेंगे. अदालत के बयान में बताया गया कि “हम यह स्पष्ट करना चाहते हैं कि हम आपको यह बिन्दु नहीं उठाने देंगे, क्योंकि आप खुद ही अपनी याचिका से इन अंशों (जासूसी कांड से संबंधित) को हटाने के लिए तैयार हो गए थे.” राज्य सरकार ने शर्मा के सभी आरोपों का जोरदार प्रतिवाद किया और कहा कि वह खुद अनेक कथित गैरकानूनी वित्तीय सौदों के सिलसिले में निगरानी के दायरे में हैं. र्ष अदालत ने मोदी की छवि खराब करने के इरादे से शर्मा के कथन पर 12 मई 2011 को कड़ी आपत्ति जाहिर की थी और उन्हें याचिका से उन अंशों को निकालने का निर्देश दिया था. भारतीय प्रशासनिक सेवा के प्रदीप शर्मा के खिलाफ के 2008 में भूमि घोटाले में शामिल होने के आरोप में पांच मामले दर्ज हैं जिन्हें शर्मा ने सीबीआई को सौंपने की मांग की थी .

 

 

संबंधित खबरें:

  • संबंधित खबरें उपलब्ध नहीं
जयपुर नगर निगम के सीईओ पर भी ऍफ़आईआर दर्ज.. जयपुर नगर निगम के सीईओ पर भी ऍफ़आईआर दर्ज..(0)

जयपुर नगर निगम के भ्रष्टाचार के खेल में सीईओ लालचंद असवाल के ऊपर भी फंदा कसने लगा है. नगर निगम के अधिशासी अभियंता पुरुषोत्तम जेसवानी भले ही कमीशन के पंद्रह लाख के साथ अकेले धरे गए हों पर एंटी करप्शन ब्यूरो ने नगर निगम के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ)लालचंद असवाल को भी अभियुक्त मानते हुए उनके खिलाफ भी ऍफ़आईआर दर्ज करवा दी है.

इसी सिलसिले में नगर निगम में सोमवार को एसीबी टीम आरोपी जेसवानी का दफ्तर खंगालती रही. छः कर्मचारियों से पूछताछ की गयी और उसके बाद जेसवानी को चौदह दिन की रिमांड पर हिरासत में भेज दिया गया है.

निगम कार्यालय में दिनभर चली कार्रवाई के दौरान एसीबी ने लेखा और भुगतान शाखा से जेसवानी का कंप्यूटर और कुछ फाइलें जब्त कीं. जांच में जेसवानी के दो लौकरों का भी पता चला है. इसमें न्यू सांगानेर रोड स्थित एसबीबीजे बैंक के लॉकर से करीब 160 ग्राम सोना और 18,000 रूपए मिले.इसे सील कर दिया गया है.  दूसरा लॉकर जौहरी बाजार में था, जो चार साल से उपयोग में नहीं था.

संबंधित खबरें:

  • संबंधित खबरें उपलब्ध नहीं
बीवी ने गिरफ्तार करवाया हैवान पति को.. बीवी ने गिरफ्तार करवाया हैवान पति को..(0)

इजिप्ट के मीडिया में आज कल एक वीडियो बेहद चर्चित हो रहा है जिसमें एक अनाथालय का मैनेजर कुछ छोटे बच्चों को बेतहाशा पीट रहा है. हालाँकि राष्ट्रपति अब्देल फतह अल सीसी के हस्तक्षेप के बाद मैनेजर को गिरफ्तार कर लिया गया है. वीडियो में मैनेजर को चार से सात साल की उम्र के बच्चों को लकड़ी की छड़ी से पिटाई करते हुए दिखाया गया है जबकि बच्चे मार खा कर बुरी तरह रो रहे हैं.

मैनेजर की पत्नी ने इजिप्टियन टीवी को बताया कि लगभग एक साल पहले उसने ही ये वीडियो शूट किया था जब उसे लगा कि अब चुप रहना सही नहीं होगा और वो इससे अधिक बर्दाश्त नहीं कर सकती हैं.

उन्होंने आगे कहा, “वो सबको पीटता है, यहाँ तक कि अपने बच्चो को भी और मुझे भी.” वीडियो में, ऐसा प्रतीत होता है कि मैनेजर उन बच्चो को बिना अनुमति के टीवी और फ्रिज खोलने के लिए सजा दे रहा है.

रविवार को सोशल मीडिया पर आये इस वीडियो को यूट्यूब पर बीस हज़ार से अधिक बार देखा जा चुका है और फेसबुक पर 85000 से अधिक शेयर हो चुके हैं.  “सभी अनाथ बच्चों को दूसरे अनाथालय में पहुंचा दिया गया है”. ट्विटर पर एक सोशल एक्टिविस्ट ने खबर दी है. “बच्चे आजाद और खुला हुआ महसूस कर रहे हैं. बहुत खुश हैं” गिज़ा प्रान्त के गवर्नर ने अनाथालय के बोर्ड को तत्काल प्रभाव से भंग कर दिया है.

बाल अधिकारों के लिए काम करने वाले समूह FACE ने कहा है कि इसकी वजह अनाथालय को मिलने वाले फण्ड की कमी और कर्मचारियों की उचित ट्रेनिंग का अभाव है. इस घटना की सम्पूर्ण विश्व मीडिया में निंदा हो रही है.

संबंधित खबरें:

  • संबंधित खबरें उपलब्ध नहीं
कुमारी सैलजा के घर से शव मिला, हत्या की आशंका.. कुमारी सैलजा के घर से शव मिला, हत्या की आशंका..(0)

यूपीए  सरकार में मंत्री रह चुकी कांग्रेसी नेत्री कुमारी सैलजा के घर से शव बरामद किया गया है. शव उनके मोतीलाल नेहरु मार्ग स्थित निवास से बरामद किया गया है, जो कि उनकी घरेलू  नौकरानी के 40 वर्षीया पति का बताया जाता है जिसका नाम संजय है.

सुबह आठ बजे दिल्ली के 7-मोतीलाल नेहरू मार्ग से फोन कर पुलिस को इस बात की जानकारी दी गई कि कुमारी सैलजा के घर पर शव पड़ा है. पुलिस के अनुसार ये प्राकृतिक मौत नहीं है और पुलिस इसकी जांच कर रही है. ये आत्महत्या है या क़त्ल  इसके बाबत जांच से पूर्व किसी भी तरह के निष्कर्ष तक नहीं पहुंचा जा सकता है.  

शव को पोस्टमोर्टम के लिए भेज दिया गया है. पुलिस रविवार की रात घर में मौजूद सभी लोगों से पूछताछ कर रही है और सुबूत जुटाने की कोशिश में है.

हाल के समय में हरियाणा के मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा और सैलजा के बीच तल्खियों के बाद ये दूसरी घटना है जब सैलजा किसी नकारात्मक खबर में मुख्य किरदार के रूप में पायी गयी हैं.

हालाँकि सैलजा के सम्बन्ध चौटाला और भजन लाल से भी लगातार ख़राब रहे हैं  जिनकी वजह से वो राजनीति के  गलियारों में लगातार आँख की किरकिरी बनी रही हैं. ऐसे में इस घटना के राजनीतिक एंगल से इनकार नहीं किया जा सकता. राजनीतिक तबके में पकड़ रखने वाले जानकार इसे राजनैतिक साजिश के तौर पर देख रहे हैं.

संबंधित खबरें:

  • संबंधित खबरें उपलब्ध नहीं
मेरठ में युवती से सामूहिक दुष्कर्म कर अश्लील एमएमएस बनाया.. मेरठ में युवती से सामूहिक दुष्कर्म कर अश्लील एमएमएस बनाया..(0)

उत्तर प्रदेश में मेरठ जिले के थाना परीक्षितगढ़ क्षेत्र के एक गांव से दो युवकों ने एक युवती का अपहरण कर उसके साथ तीन दिन तक कथित तौर पर सामूहिक दुष्कर्म किया और अश्लील क्लिप भी बनाने का मामला सामने आया है.

पुलिस ने युवती को बरामद कर एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. दर्ज शिकायत के आधार पर परीक्षितगढ़ पुलिस ने बताया कि किला परीक्षितगढ़ के एक गांव की 18-वर्षीय युवती बुधवार को अपने छोटे भाई के साथ जंगल में जा रही थी. तभी पीछे से मोटरसाइकिल पर आए दो युवकों ने उसका अपहरण कर लिया.

आरोपी उसे लोहिया नगर के एक खाली मकान में ले गए, जहां उन्होंने युवती को बंधक बनाकर तीन दिन तक उसके साथ दुष्कर्म किया. आरोपियों ने मोबाइल से अश्लील वीडियो भी तैयार कर लिया. इस बीच मौका पाकर युवती ने एक आरोपी के मोबाइल से परिवार के लोगों को फोन कर घटना की जानकारी दे दी. परिजनों ने पुलिस को सूचना दी. इस पर पुलिस ने युवती को बरामद कर मेडिकल परीक्षण के लिए अस्पताल भेजा.

पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. दूसरे आरोपी की तलाश की जा रही है. जिस मकान में दुष्कर्म कर अश्लील क्लिप तैयार की गई, वह आरोपी का ही है.

संबंधित खबरें:

  • संबंधित खबरें उपलब्ध नहीं
सेक्स के भूखे जवान ने बेच दिए राज़.. सेक्स के भूखे जवान ने बेच दिए राज़..(0)

भारतीय सेना को उसके एक जवान की जिस्मानी भूख और पैसे का लालच भारी पड़ गया. सेक्स और पैसे के आकर्षण में फंस कर उसने पाकिस्तानी महिला जासूस को अपनी सेना और रक्षा से सम्बंधित महत्वपूर्ण और गोपनीय जानकारी उपलब्ध करवा दी. सेना की 151 एमसी/एमएफ डिटैचमेंट में सिकंदराबाद रेलवे स्टेशन पर तैनात 40 साल के नायब सुबेदार पाटन कुमार पोद्दार को हैदराबाद पुलिस ने बुधवार को गिरफ्तार किया। अब पुलिस और सेना उससे पूछताछ कर रही है.

रिमांड केस डायरी से प्राप्त जानकारी के अनुसार पश्चिम बंगाल के मालदा का निवासी पोद्दार पिछले वर्ष जुलाई से ही पाकिस्तानी जासूस को जानकारी उपलब्ध कर रहा था जिसके एवज में उसे लगातार पैसे मिल रहे थे. जासूस पोद्दार को भुगतान बैंक खाते में नगद जमा कर के करते थे. भारतीय सेना की अहम जानकारियां देने के एवज में पोद्दार को उस पाकिस्तानी महिला जासूस कई बार पैसे देने के अलावा अपनी न्यूड तस्वीरें और विडियो भी उसके साथ शेयर करती रही. इसके अलावा उसे मुफ्त में लंदन की सैर करवाने का भी वादा किया गया था. 

पूछताछ के दौरान पोद्दार ने बताया है कि वह फेसबुक के जरिए पिछले साल ‘अनुष्का अग्रवाल’ नाम की लड़की के संपर्क में आया. लड़की ने बताया कि वह उत्तर प्रदेश के झांसी की रहने वाली है और एमएससी की स्टूडेंट है. महिला ने पोद्दार को बताया था कि उसके पिता भारतीय वायुसेना के रिटायर्ड कमांडर हैं और संयुक्त राष्ट्र के लिए झांसी में एक एनजीओ चलाते हैं. महिला ने भी खुद को आकर्षित दिखाया जिसकी बाद पोद्दार पूरी तरह से झांसे में आ गया. उसने दस हज़ार रूपए मासिक की तनख्वाह पर पोद्दार को अपने एनजीओ में काम करने का प्रस्ताव भी दिया और शुरुवाती पेशगी के तौर पर नौ हज़ार रूपए उसके मालदा स्थित स्टेट बैंक के खाते में डलवा भी दिए. महिला ने पोद्दार से सेना का एक ऑनलाइन सर्वे करने के लिए कहा. इसके बाद पोद्दार ने महिला के निर्देशानुसार एक ऑनलाइन फॉर्म भरा जिसमें पेशा और निजी ब्योरे शामिल थे. उसने अपनी तस्वीर के साथ इस डेटा को उसे ईमेल कर दिया.

इसके बाद पोद्दार को पूरी तरह अपने खेल में फंसता देख उस पाकिस्तानी जासूस ने उसके मोबाइल फोन पर कॉल करना शुरू किया. फिर बातों-बातों में उसने पोद्दार से देशभर में मौजूद 50 एमसीओ (मूवमेंट कंट्रोल ऑफिस) के नंबर हासिल कर लिए. अगस्त 2013 में उसने पोद्दार के अकाउंट में 20 हजार रुपये डाले और साथ ही उसे पकड़े जाने से बचने के लिए प्रॉक्सी के जरिए ईमेल का इस्तेमाल करने की ट्रेनिंग भी दी. पूरी तरह से झांसे में आने के बाद अपनी स्थित से अनभिज्ञ पोद्दार ने सेना के पश्चिमी सेक्टर की गतिविधियों की जानकारी जासूस को मुहैया करवा दी.  इसके अलावा उसने जासूस के कहने पर अपने कार्यालय के कंप्यूटर में ट्रोजन वायरस भी दाल दिया जिससे जासूस का उसके कंप्यूटर पर नियंत्रण स्थापित करने में सहायता मिली. इसके बाद उस महिला जासूस ने पोद्दार के खाते में 45 हज़ार रूपए दो किश्तों में भिजवाए. 

जांच के बाद पता चला है कि ‘अनुष्का अग्रवाल’ की फेसबुक प्रोफाइल फर्जी है और वह पाकिस्तानी जासूस कई अन्य सैन्यकर्मियों से संपर्क बनाने में सफल हो गई थी. सूत्रों ने यह भी बताया कि उसने जिन न्यूड विडियो और तस्वीरों से पोद्दार को फांसा, वे भी किसी और की थीं.

संबंधित खबरें:

  • संबंधित खबरें उपलब्ध नहीं
जब 9 साल के बच्चे ने बिगाड़ दिया लॉ एंड आर्डर.. जब 9 साल के बच्चे ने बिगाड़ दिया लॉ एंड आर्डर..(1)

उत्तर प्रदेश को अद्भुत प्रदेश का तमगा दिलाने के लिए निरंतर प्रयासरत उत्तर प्रदेश पुलिस ने  कक्षा तीन के नौ वर्षीय विद्यार्थी पर कानून व्यवस्था बिगाड़ने का अरोप लगाया है और बच्चे को हिरासत में ले कर मुकदमा दर्ज भी कर दिया है. फिरोजाबाद जिले में टुंडला पुलिस ने तीसरी क्लास में पढ़ने वाले 9 साल के बच्चे को सीआरपीसी की धारा 107/116 यानी कानून व्यवस्था बिगाड़ने के तहत हिरासत में लिया. पुलिस ने बच्चे को अपने गांव में कानून व्यवस्था बिगाड़ने का आरोपी बना दिया. 

आरोपी बच्चे के वकील ने बताया कि गुरुवार को उसे ज़मानत मिल गयी है. बच्चे के साथ साथ उसके पिता  को भी आरोपी बनाया गया है. आपसी विवाद के इस मामले में घटना टूंडला के कर्रा गाँव की है. आरोपी के मवेशी ने किसी दूसरे के खेत में घुस कर फसल को नुकसान पहुंचा दिया जिसके बाद बच्चों के बीच के विवाद  ने आपसी लड़ाई की शक्ल ले ली. गत 5 अगस्त को पुलिस ने पिता-पुत्र को घर जा कर हिरासत में ले लिया. पिता को कुछ देर हिज=रसत में रखने के बाद छोड़ दिया गया.

हालांकि सीओ ने माना है कि पुलिस ने मामला दर्ज करके गलती की. सीओ का कहना है कि वह इस मामले की जांच करा रहे हैं. बिना प्रॉपर जांच किए मामला दर्ज करने के लिए सब इंस्पेक्टर पर कार्रवाई की बात भी कही जा रही है.

 

संबंधित खबरें:

  • संबंधित खबरें उपलब्ध नहीं
रायपुर में रेव पार्टी में अश्लीलता की मची धूम.. रायपुर में रेव पार्टी में अश्लीलता की मची धूम..(0)

फ्रेंडशिप-डे से एक दिन पहले तेलीबांधा स्थित सिटी मॉल-36 के तंत्रा में रात 2.30 बजे शराब के नशे में चूर लड़के-लड़कियों ने जमकर अश्लीलता मचाई। चौथे फ्लोर पर तंत्रा में डीजे की तेज धुन में युवा जोड़े अर्घनग्न अवस्था में झूमते रहे। पुलिस और प्रशासन को इस रेव पार्टी की पहले कोई खबर नहीं थी, लेकिन जब सूचना मिली तो पुलिस ने यहां छापा मार तो इससे पार्टी में हड़कंप मच गया और अर्धनग्न लड़के और लड़कियां सड़कों पर भागते नजर आई। कुछ युवकों ने पुलिस को अपने रसूख की धौंस भी दिखाई।

फेसबुक, वाट्सएप पर हुई थी प्लानिंग

बताया जा रहा है कि पार्टी की एक हफ्ते पहले ही वाट्सएप और फेसबुक के जरिए प्लानिंग कर ली गई थी। पार्टी में कोई कमी न रहे इसलिए शराब, ड्रग्स और लड़कियों की भी व्यवस्था की गई थी।

मौके से मिली शराब और ड्रग्स

मौके पर शराब के अलावा नशे की गोलियां भारी मात्रा में बरामद की गई। यहां पर शराब की बोतलें, नशीली गोलियां आदि बरामद की गई हैं। रात 10 बजे शुरू हुई मौज-मस्ती में रसूखदार घरानों के लड़के-लड़कियां नशे में चूर पाए गए। तेलीबांधा पुलिस को मिली सूचना के बाद रात 2.30 बजे यहां छापेमारी की गई, तो सबके सब अश्लीलता में डूबे हुए थे।

कोई गिरफ्तार नहीं

पार्टी में अश्लीलता फैलाने वाले इन लड़के लड़कियों में से किसी को भी गिरफ्तार नहीं किया गया। ये सभी शहर के प्रतिष्ठि और पैसे वाले घरानों से ताल्लुक रखते हैं। पार्टी में एंट्री फीस 3 हजार रूपए प्रति व्यक्ति थी। इसके लिए मुंबई, नागपुर से लड़कियां भी बुलाई गई थी।

पिछले गेट से भागे, स्टूडेंट भी थे शामिल

पार्टी में शामिल 20 से 25 साल की लड़कियां और 24 से 30 साल तक के लड़के शामिल थे। साथ ही इनमें कॉलेज स्टूडेंट्स भी थे। छापामारी में कई लड़के-लड़कियां पिछले गेट से भाग निकले।

ये भी हैं चर्चित मामले

- 2012 में होटल वीडब्ल्यू केन्यॉन की पार्टी।
- 2013 में होटल जीटी स्टार में फ्रेण्डशिप-डे पर पार्टी में भी पुलिस की दबिश से बबाल।
- 2 अगस्त 2014 को एमजी रोड पर होटल “दी गोल्डन ऑक” के ब्लूस बार में चल रही पार्टी में पुलिस ने दबिश दी। लेकिन कोई पकड़ा नहीं जा सका।

तंत्रा का लाइसेंस रद्द करने की सिफारिश

तेलीबांधा पुलिस के मुताबिक तंत्र के पब में लाइसेंस शर्तो का उल्लंघन किया गया है। इसके तहत पुलिस ने आबकारी एवं जिला प्रशासन से लाइसेंस रद्द करने की अनुशंसा की है।

पार्किग में पाए गए आपत्तिजनक अवस्था में

कुछ लड़कियां पार्टी के दौरान मॉल की पार्किग में खड़ी कारों में अपने दोस्तों के साथ आपत्तिजनक स्थिति में मिली। पुलिस छापा का हल्ला उड़ते ही लड़कियां कार से निकलकर मॉल के लॉन में गईं। वे अपने दोस्तों के साथ कार में सवार होकर मंदिर हसौद और वीआईपी रोड की ओर निकल गई।

यहां भी हुई पार्टी

रिंगरोड के क्लब ओटीवॉय में बिना अनुमति पार्टी चल रही थी। सूचना पर प्रभारी आजादचौक सीएसपी अर्चना झा, डीडीनगर टीआई एवं आमानाका टीआई के साथ होटल पहुंची। मौजूद युवक-युवतियों के थोड़ी पूछताछ के बाद संचालक एवं मैनेजर से पूछताछ की गई। सूचना भी सोशल नेटवर्किग साइट के जरिए भेजी गई थी।

मॉल के बार संचालक के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया गया है। लाइसेंस रद्द करने को लेकर आला अधिकारियों को रिपोर्ट दी जाएगी। लड़के-लड़कियों की गिरफ्तारी नहीं की गई है।
- राकेश बघेल, टीआई, तेलीबांधा थाना

फेसबुक व वाट्सएप के जरिए पार्टी का बुलावा

राजधानी में इन दिनों मेट्रो सिटी का ट्रेंड शुरू हो गया है। अब राजधानी में शराब पार्टियां आम होने लगी हैं। इसके साथ ही अश्लील पार्टियों का दौर भी रायपुर के कल्चर का हिस्सा बनने लगा है। पार्टी का ट्रेंड बदलने के साथ इनके आयोजन का तरीका भी बदलता जा रहा है। अब ऎसी पार्टियां होने लगी हैं, जहां लोगों में भले ही आपस में जान-पहचान नहीं होती, लेकिन सोशल नेटवर्किग साइट्स से लोगों तक खबर पहुंचती है और कुछ पैसे खर्च कर पार्टी में शामिल होते हैं।

ताजा मामला मौदहापारा थाना क्षेत्र अंतर्गत एमजी रोड पर स्थित होटल दी गोल्डन ऑक में शनिवार को पुलिस की दबिश के बाद सामने आया। यहां वीजे कुणाल ने पार्टी का आयोजन किया था। पुलिस की पूछताछ में वीजे कुणाल ने बताया कि पार्टी में शामिल युवक-युवतियां फेसबुक के जरिए बुलाए गए थे, जिनमें से कई को आयोजक पहचानता भी नहीं था। वहीं रविवार को रिंग रोड स्थित क्लब ओटीवॉय में पब में आयोजित पार्टी में नाबालिगों के शामिल होने की सूचना पर पुलिस पहुंची थी और जांच की गई। इसमें भी सोशल नेटवर्किग साइट का सहारा लिया गया था।

संबंधित खबरें:

  • संबंधित खबरें उपलब्ध नहीं

प्रसिद्ध खबरें..

  • Sorry. No data yet.
Ajax spinner

ताज़ा पोस्ट्स

Contacts and information

मीडिया दरबार - जहाँ लगता है दरबार. आप ही राजा हैं इस दरबार के और कटघरे में है मीडिया. हम तो मात्र एक मंच हैं और मीडिया पर अपनी निगाह जमायें हैं, जहाँ भी मीडिया में कुछ गलत होता दिखाई देता है उसे हम आपके सामने रख देते हैं और चलाते हैं मुकद्दमा. जिसपर सुनवाई करते हैं आप, जहाँ न्याय करते हैं आप. जी हाँ, यह एक अलग किस्म का दरबार है. मीडिया दरबार...

Social networks

Most popular categories

© 2014 All rights reserved.