Loading...
You are here:  Home  >  मीडिया  >  कला व साहित्य  -  Page 2
Latest

विभूति नारायण राय और अभिरंजन कुमार सम्मानित..

By   /  March 9, 2016  /  कला व साहित्य  /  1 Comment

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..सामाजिक संस्था “भोर” और सुगौली प्रेस क्लब, मोतिहारी द्वारा 4 और 5 मार्च को संयुक्त रूप से आयोजित “भोर लिटरेचर फेस्टिवल – 2016” में वरिष्ठ साहित्यकार विभूति नारायण राय को प्रथम रमेश चंद्र झा स्मृति सम्मान और चर्चित कवि-पत्रकार अभिरंजन कुमार को प्रथम पंकज सिंह स्मृति सम्मान से […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

अगर हम लेखकों के विरोध को नहीं समझ रहे हैं तो यह हमारी गलती है..

By   /  October 21, 2015  /  कला व साहित्य, देश  /  1 Comment

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-प्रियदर्शन॥ जिन्हें सरकार और उसके लोग बेहद मामूली, अनजान से लेखक बता रहे हैं, उनका विरोध इसलिए महत्वपूर्ण है कि हमारी बहुत सारी विफलताओं से प्रतिरोध का जो स्वर मर गया था, वह अचानक सांस लेने लगा है. चिनगारी जैसे शोले में बदलती जा रही है. लेखकों का […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

वर्ष 2014 का बिहारी पुुरस्‍कार श्री ओम थानवी को..

By   /  April 13, 2015  /  कला व साहित्य  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..प्रसिद्ध लेखक एवं पत्रकार श्री ओम थानवी की पुस्तक ’मुअनजोदड़ो’ को वर्ष 2014 के बिहारी पुरस्कार के लिए चुना गया है। के.के. बिरला फाउंडेशन के कार्यकलापों के अन्तर्गत डॉ. कृष्‍ण कुमार बिरला ने 1991 में बिहारी पुरस्कार की शुरूआत की। पुरस्कृत कृति ’मुअनजोदड़ो’ एक ऐसा यात्रा-वृ्त्तांत है जो […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

बोली पर ब्रेक..

By   /  April 7, 2015  /  व्यंग्य  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-तारकेश कुमार ओझा|| चैनलों पर चल रही खबर सचमुच शाकिंग यानी निराश करने वाली थी. राष्ट्रीय अध्यक्ष ने मातहतों को आगाह कर दिया था कि गैर जिम्मेदाराना बयान दिए बच्चू तो कड़ी कार्रवाई झेलने को तैयार रहो. मैं सोच में पड़ गया. यदि सचमुच नेताओं की जुबान पर […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

पाठ्यक्रम -भारत का इतिहास-कक्षा 8 (सन्2099)

By   /  April 2, 2015  /  व्यंग्य  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-इमरान।। बहुत समय पहले की बात है, इस मुल्क में एक किसान नामक चालाक प्राणी रहा करता था। ये एक बेहद दुबला पतला सा लेकिन गज़ब का जीवट किस्म का बन्दा हुआ करता था। कोई काम धाम तो इसके पास रहता नहीं था, अतः रात सूरज निकलने के […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

शहनाई जादूगर बिस्मिल्लाह खान..

By   /  March 21, 2015  /  कला व साहित्य  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-रामजी राय|| डुमराँव (बिहार) की भिरंग राउत की गली नामक मोहल्ले में आज के दिन जन्मे, 6 वर्ष की उम्र से ही बनारस में पाले-बढ़े बिस्मिल्लाह खान पूरे तौर पर बनारसी थे- ठाट बनारसी, राग बनारसी, रंग बनारसी. बनारस से अलग कर उनको, उनके संगीत को नहीं समझा […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

देश, इंसानियत और समाज को नई सोच व् जागृति सहित उजाली दिशाएं दे के सम्पन्न हुआ आल इंडिया मुशायरा..

By   /  March 20, 2015  /  कला व साहित्य  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-कुलबीर कलसी|| यूनिवर्सल आर्ट एंड कल्चरल वेलफेयर सोसायटी और अदिति कलाकृति हब ऑफ़ हॉबीज की ओर  से  स्थानीय सेक्टर दस स्थित म्यूजियम एंड आर्ट गैलरी के सभागार  में  होली के उपलक्ष्य में युवा लेखक कला मंच व् प्रशासन के कल्चरल विभाग ने सांझे तौर पर  आल इंडिया मुशायरा […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

यमलोक में होलिकोत्सव की धूम..

By   /  March 2, 2015  /  व्यंग्य  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-अशोक मिश्र|| यमलोक में होलिकोत्सव बड़ी धूमधाम से मनाया जा रहा था। यमराज हाथों में रंग, अबीर-गुलाल आदि लिए स्वर्गलोक से स्पेशल विजिट पर आईं रंभा, मेनका, उर्वशी सहित अन्य अप्सराओं से घिरे होली खेल रहे थे। यमलोक में रहने वाले देव, गंर्धव, अप्सराएं सभी एक दूसरे को […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

मायावी वटवृक्ष और वडनेरकर..

By   /  February 25, 2015  /  व्यंग्य  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-अजीत वडनेरकर|| अपने उपनाम के साथ वटवृक्ष की महिमा से काफी दिलचस्प अनुभव होते रहे हैं। भाई लोगों ने बड़ा घालमेल किया है। … और कुछ भी बोल लेंगे, मगर ‘वडनेरकर’ का उच्चार नहीं करेंगे। अक्सर वडनेरकर को बड़ी आसानी से ‘वाडेकर’ बना दिया जाता है। कुछ महापण्डितों […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

तुम्हारी आस्थाएं इतनी कमजोर और डरी हुई क्यों है धार्मिकों..

By   /  January 15, 2015  /  कला व साहित्य  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-भंवर मेघवंशी || प्रसिद्ध तमिल लेखक पेरूमल मुरगन ने लेखन से सन्यास ले लिया है. वे अपनी किताब पर हुए अनावश्यक विवाद से इतने खफ़ा हो गए है कि उन्होंने ना केवल लेखनी छोड़ दी है बल्कि अपनी तमाम प्रकाशित पुस्तकों को वापस लेने की भी घोषणा कर […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Page Reader Press Enter to Read Page Content Out Loud Press Enter to Pause or Restart Reading Page Content Out Loud Press Enter to Stop Reading Page Content Out Loud Screen Reader Support
%d bloggers like this: