Loading...
You are here:  Home  >  मीडिया  >  कला व साहित्य  -  Page 3
Latest

विज्ञापन की दुनिया का गोलमाल..

By   /  January 7, 2015  /  व्यंग्य  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-आलोक पुराणिक|| रोहित शर्मा ने हाल ही में जो धुआंधार पारी खेली है, उसका एक सीधा सा परिणाम कुछ दिनों में आपके सामने दिख सकता है। कोई कोल्‍ड-ड्रिंक बता दावा कर सकता है कि रोहित शर्मा की धुआंधारी पारी की वजह दरअसल अमुक वाला को‍ल्‍ड ड्रिंक है। रोहित […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

नव-वर्ष के स्वागत का ये भी एक तरीका..

By   /  January 1, 2015  /  कला व साहित्य  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-संजीव कुमार|| क्या आपने कभी एक ऐसी जगह पर नुक्कड़ नाटक किया या देखा है जहाँ धारा 144 लगी हो ? क्या आपने कभी एक ऐसा नाटक किया या देखा है, जिसमे एक डायलाग के बाद दुसरे डायलाग बोलने के वेन्यू (स्थान) में लगभग सौ मीटर की दुरी […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

Bangla Language and Literature: A Review

By   /  November 18, 2014  /  कला व साहित्य, देश  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-Shah Abdul Hannan|| This year (2002) our Language Movement has had its fiftieth anniversary. It is time to evaluate our achievement in language and literature. My study shows that Bangla has turned into a very powerful language. But it has not become so without any efforts. The Bangla […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

बज्जर पड़े ‘किस ऑफ लव’ पर..

By   /  November 17, 2014  /  व्यंग्य  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें.. -अशोक मिश्र|| मेरे काफी पुराने मित्र हैं मुसद्दीलाल. मेरे लंगोटिया यार की तरह. हालांकि वे उम्र में मुझसे लगभग पंद्रह साल से ज्यादा बड़े हैं. मेरी दाढ़ी अभी खिचड़ी होनी शुरू हुई है और उनके गिने-चुने काले बाल विदाई मांग रहे हैं. (बात चलने पर बालों पर हाथ […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

बोल भाई बोल…

By   /  October 19, 2014  /  राजनीति, व्यंग्य  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-तारकेश कुमार ओझा|| बोलना एक कला है, यह तो सभी जानते हैं, लेकिन इसके साथ कई विशेषताएं , विडंबनाएं और विरोधाभास भी जुड़े हैं. जिसकी ओर लोगों का ध्यान कम ही जाता है. मसलन ज्यादातर अच्छे – भले कर्मयोगी अपनी प्रतिष्ठा के अनुरूप अच्छा बोल नहीं पाते. कभी […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

पुस्तक समीक्षा: अनसुने ईसाईयों की आवाज़..

By   /  September 28, 2014  /  कला व साहित्य  /  Comments Off on पुस्तक समीक्षा: अनसुने ईसाईयों की आवाज़..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-प्रेमकुमार गौतम|| आंख में चुभे तिनके सी पीड़ा महसूसता हृदय पुस्तक समीक्षा: अनसुने ईसाइयों की आवाज ’’दूसरे की आंख में तिनका खोजने के पूर्व तू अपनी आंख का लट्ठा देख’’ पवित्र बाइबिल का यह वचन मनुष्य को जिस आत्मावलोकन की शिक्षा देता है वह जीवन निर्वाह में कम […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

अमेरिका लोगे या पाकिस्तान..

By   /  September 26, 2014  /  व्यंग्य  /  Comments Off on अमेरिका लोगे या पाकिस्तान..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-अशोक मिश्र|| कुछ नामी-सरनामी ठेलुओं की मंडली गांव के बाहर बनी पुलिया पर जमा थी. गांजे की चिलम ‘बोल..बम..बम’ के नारे के साथ खींची जाती, तो उसकी लपट बिजली सी चमककर पीने वाले को आनंदित कर जाती थी. एक लंबा कश खींचने के बाद हरिहरन ने चिलम बीरबल […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

चीन में होंगे झानझूं त्रिपाठी..

By   /  September 20, 2014  /  व्यंग्य  /  2 Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-अशोक मिश्र|| नथईपुरवा गांव के कुछ बुजुर्ग चाय की दुकान पर बतकूचन कर रहे थे. रामबरन ने चाय का कप उठाकर मुंह से लगाया और सुर्रर्र..की आवाज करते हुए थोड़ी सी चाय अंदर ढकेली और बोले, ‘जिनफिंगवा की बदमाशी तो देखो. खुद तो भारत मा आकर माल-पूड़ी काट […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

समझदार बेटी..

By   /  September 7, 2014  /  कला व साहित्य  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-इमरान रिज़वी|| शहर के एक किनारे पर बनी झुग्गियों वाली बस्ती में वो अधेड़ औरत अपनी बेटी के साथ रहा करती थी, गरीबी के कारण लड़की की पढाई छुट चुकी थी और वो अपनी माँ से सीखी हुई सिलाई कढाई के हुनर से कुछ पैसे कमा लिया करती […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

कॉफ़ी का बलात्कार..

By   /  September 3, 2014  /  कला व साहित्य  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-सुखदीप सिंह|| अमरेन्द्र को अमेरिका आये दो साल हो गए थे अपनी पोस्ट ग्रेजुएशन करने के लिए, कॉफ़ी उसकी शुरू से ही कमजोरी रही थी इसलिए उसने आते ही एक कॉफ़ी मशीन खरीद ली थी, रात के लगभग 11 बजे है, कल उसको अपना प्रोजेक्ट जमा करवाना है, […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Page Reader Press Enter to Read Page Content Out Loud Press Enter to Pause or Restart Reading Page Content Out Loud Press Enter to Stop Reading Page Content Out Loud Screen Reader Support
%d bloggers like this: