Loading...
You are here:  Home  >  मीडिया  >  कला व साहित्य  >  व्यंग्य
Latest

जो मोदी से भी न डरे वे अब कोरोना से डरना सीख रहे..

By   /  March 23, 2020  /  व्यंग्य  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-विष्णु नागर।। हम बहुत कुछ सीख रहे हैं। आप कहेंगे कि सरकार की आलोचना कर रहे हैं, नहीं भाई , मैं तो अपनी भी आलोचना नहीं कर रहा हूँ। मैं तो कह रहा हूँ, पहले हम जो सीख रहे थे, उसे हम और तेजी से सीख रहे हैं […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

व्हाट्सएप: अथ श्री कोरोना कथा..

By   /  March 22, 2020  /  व्यंग्य  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-विष्णु नागर।। हम हिंदुस्तानी और उनमें भी विशेषकर हिंदुत्ववादी कुछ बातें पक्के तौर पर जानते हैं। पहली यह कि भारत कभी जगदगुरु  था और मोदीजी उसे फिर से जगद्गुरु बनानेवाले हैं। कोरोना गया और भारत जगद्गुरु बना। दूसरी बात पहले से जुड़ी हुई है कि हिंदू संस्कृति महान […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

शताब्दी में समोसे की मानहानि..

By   /  March 18, 2020  /  व्यंग्य  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-मुकेश नेमा।। अब कोई जीभ का मारा हर बार ,बार बार ,लगातार समोसा कैसे खा सकता है ! भोपाल नई दिल्ली शताब्दी मे चढ़िये ! ये दोपहर तीन बजे हबीबगंज से दिल्ली के लिये रवाना होती है ! आप चढ़ते है ,अपनी सीट तलाशते है ,सामान को सीट […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

संघ से बचपन में ही निजात पा ली थी..

By   /  March 17, 2020  /  व्यंग्य  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-विष्णु नागर।। संघी अगर जवाहर लाल नेहरू को इतना गरियाते हैं तो उसके ठोस कारण हैं। उस जमाने में बड़े हो रहे करोड़ों भारतीयों में मैं भी एक हूँ, जो नेहरू जी के कारण संघ में जाने से बाल -बाल बच गया। संघ एक अच्छे स्वयंसेवक से वंचित […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

किस किस को चाहिए वैलेंटाइन.?

By   /  February 14, 2020  /  व्यंग्य  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-मुकेश नेमा।। तीसरी सदी की बात है ! रोम में तब के राजा क्लॉडियस को लगा कि शादी करने से पुरूषों की अकल और ताक़त दोनों ख़त्म हो जाते है ! ऐसा राजा को क्यों लगा ये बात आजतक साफ़ नहीं है ! हो सकता है ये राजा […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

प्रोमिस करने से पहले दिमाग थपथपा लें..

By   /  February 11, 2020  /  व्यंग्य  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-मुकेश नेमा।। समझदार क़िस्म के बाबू आज के दिन से सबसे ज़्यादा डरते हैं ! प्रामिस कर बैठे आप तो फिर बचा क्या ! आप प्रामिस कर लें या प्रेम कर लें ! दोनों बातें एक साथ कभी मुमकिन रही नहीं कभी ! जो संवेदनशील क़िस्म के लड़के […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

चोर के घर चोरी..

By   /  February 6, 2020  /  व्यंग्य  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-मुकेश नेमा।। बैंक वाले बुरा ना मानें ! वो खुद चोर होते हैं ! क्रेडिट कार्ड के रखरखाव के नाम से ,मिनिमम बैलेंस के नाम से और भी दूसरे दर्जनों बहानों से पब्लिक का धन चुरा लिया जाता है ! यदि हमारी दयालु सरकार पाँच लाख तक जमा […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

ईरानी होटल सी बेनूर कांग्रेस…

By   /  January 30, 2020  /  व्यंग्य  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-राजीव मित्तल।। वैशाली के जंगल में पीपल के पेड़ पर दो डालों के बीच में टिके बर्बरीक उर्फ बॉब और चैनली बाला के बीच 2004 में हुआ एक संवाद.. बॉब, ये बताओ कि कांग्रेस का ईरानी होटल से क्या कनेक्शन है!! चैनली, एओ ह्यम ने तो एक कमरे […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

नया भारत लिफ्ट वाले अदनान सामी का ही तो है..

By   /  January 27, 2020  /  व्यंग्य  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-मुकेश नेमा।। अदनान को मिला ! ठीक मिला ! उनको लिफ़्ट मिली ! मिलना ही चाहिये थी ! वो सच्चे हक़दार है इसके ! वो हल्के होने के आंदोलन के अगुआ है ! कभी लंबा चौड़ा रह चुका यह आदमी अब केवल लंबा रह गया है ! पहली […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

ये जो मंगल मिसिर हैं, पसीने का प्यासा..

By   /  January 25, 2020  /  व्यंग्य  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-कलीम अव्वल।। मैं अभी फ़ज्र की नमाज़ के लिए वुज़ू कर रहा था कि मिसराइन का काल आ गया. फून उठाया तो मिसराइन बिना भूमिका और बिना लोकाचार शुरू हो गयीं ; ” अरे तंजू बाबू जल्दी आवा, मिसिर पगला गयल बा. “ मैंने पूछा क्या हो गया […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Page Reader Press Enter to Read Page Content Out Loud Press Enter to Pause or Restart Reading Page Content Out Loud Press Enter to Stop Reading Page Content Out Loud Screen Reader Support
WhatsApp chat
%d bloggers like this: