Loading...
You are here:  Home  >  मीडिया  >  कला व साहित्य  >  व्यंग्य  -  Page 3
Latest

राजनेताओं से सीख लें गिरगिट…

By   /  August 7, 2014  /  व्यंग्य  /  1 Comment

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..–तारकेश कुमार ओझा|| राजनीति में रंग या पाला बदलने के खेल को आप नया नहीं कह सकते। छात्र जीवन में ही कुछ एेसे राजनेताओं के बारे में सुना था जिनकी ख्याति ’ सदामंत्री ‘के तौर पर थी। यानी सरकार चाहे जिसकी हो उनका मंत्री पद पक्का। कल तक जिसे गरियाया , […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

वैदिकी गप, गप न भवति…

By   /  July 15, 2014  /  व्यंग्य  /  1 Comment

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..वेद प्रताप वैदिक को जो लोग अर्से से जानते हैं कि वे न केवल रीढ़विहीन हैं बल्कि तर्क विहीन भी हैं…वैदिक साहब का प्रिय शगल है अपने बारे में ख़ुद ही बढ़ा चढ़ा कर बताना…एक दौर था, जब वैदिक साहब मालिक के चापलूस सम्पादक हुआ करते थे…उस वक़्त […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

तहं तहं भ्रष्टाचार..

By   /  June 4, 2014  /  कला व साहित्य, व्यंग्य  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-ओम थानवी|| एक पुस्तक चर्चा में शिरकत का मौका मिला. सतीश अग्निहोत्री का व्यंग्य संग्रह है, ‘तहं तहं भ्रष्टाचार’ (राजकमल प्रकाशन). अग्निहोत्रीजी ने कई शासन-प्रशासन देखे हैं. पुस्तक में यों तो कई दिलचस्प रूपक हैं, पर ‘पुनर्मूषको भव’ पढ़ते हुए मुझे बरबस रंजन भट्टाचार्य और राबर्ट वाड्रा की […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

सर्कस में नकली शेरखान…

By   /  March 11, 2014  /  व्यंग्य  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-दिनेशराय द्विवेदी|| आम आदमियों के मुखिया ने सर्कस का शो जारी रहते शेरखान को चिढ़ा कर अनुशासन भंग किया था. शेरखान को चिढ़ाना कोई अनुशासनहीनता नहीं, लेकिन सर्कस का शो शुरू होने के बाद इस की इजाजत नहीं दी जा सकती. आखिर शो के अपने कायदे होते हैं. […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

सर्कस लाइव : झगड़ा नहीं, नया आईटम..

By   /  March 7, 2014  /  राजनीति, व्यंग्य  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-दिनेशराय द्विवेदी||  ‘द ग्रेट इंडियन सर्कस’ का प्रीमियर शो हिट हो गया. यूं तो सर्कस में हर बार वही सब कुछ होता है, फिर भी सर्कस लोकप्रिय हैं. उन्हें हर बार अच्छे खासे दर्शक मिल जाते हैं. पुराने प्राणी हर बार कुछ नए करतब लेकर आते हैं. कुछ […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

कत्ल होने के बोनांजा ऑफर्स…

By   /  March 6, 2014  /  व्यंग्य  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-संध्या नवोदिता|| मेरे पास मारे जाने के तरीकों के इतने आफरों की बाढ़ आ गयी है कि मैं हैरान हूँ. मतलब अतीत में मरने के तरीके इतने जोर शोर से प्रचारित नहीं किये गये वरना तरीके मौजूद तो थे ही, इसके बोनान्जा आफर खपाने के लिए कितने ही […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

पब्लिक कहेगी तो दूल्हा भी बन के दिखा देंगे, सर जी..

By   /  March 5, 2014  /  राजनीति, व्यंग्य  /  2 Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-दिनेशराय द्विवेदी|| पींईँईँईँ… पिपिप्पींईँईँ … हो गया, हो गया, हो गया. आज सुबह, साढ़े दस बजे ‘दी ग्रेट इंडियन सर्कस’ का शुभारंभ हो गया. करोड़ों लोगों और हजारों नेतागणों को जिसका इन्तजार था वह शुरु हो गया. जब दो माह की गारंटी है, उससे कुछ दिन बाद तक […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

ऊँ गणेशाय नमः के बाद साहिब का नाम…

By   /  February 28, 2014  /  बहस, राजनीति, व्यंग्य  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-दिनेशराय द्विवेदी|| वाह साहब¡ मान गए आप को. क्या बात कही है? आज तक किसी ने इस तरह से नहीं सोचा, न बताया, जो व्यापारियों को बताया. वैसे एक गलती कर गए. इत्ता बड़ा ट्रेड सीक्रेट इस तरह खुल्ले में नहीं बताना चाहिए था. अब बता ही दिया […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

खबरदार! जो वेलेंटाइन डे पर विश किया..

By   /  February 13, 2014  /  व्यंग्य  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-अशोक मिश्र|| मैं लगभग बारह-तेरह साल की उम्र में ही ‘पंडित’ हो जाना चाहता था. तब मैं छठवीं या सातवीं कक्षा में था. स्कूल के अध्यापक-अध्यापिकाओं से पढ़ाई को लेकर रोज पिट जाता था. अध्यापक-अध्यापिकाएं पीटते समय अकसर कहा करती थीं,‘नालायक, पढ़ने-लिखने पर ध्यान देने की बजाय फालतू […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

तोहार कवन बान राजा…

By   /  February 12, 2014  /  व्यंग्य  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-अशोक मिश्र|| संपादक जी मुझे हौंक रहे थे, ‘यार! कभी तो कोई अच्छी स्टोरी कर लिया करो. हर बार तुम अपनी स्टोरी में कोई न कोई ऐसा नुक्स छोड़ ही देते हैं जिसके चलते अगली सुबह मुझे मालिक की सुननी पड़ती है. सुनो! कल वेलेंटाइन डे पर अगर […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Page Reader Press Enter to Read Page Content Out Loud Press Enter to Pause or Restart Reading Page Content Out Loud Press Enter to Stop Reading Page Content Out Loud Screen Reader Support
%d bloggers like this: