Loading

56 ईंची का लिजलिजा सीना..

-संजय कुमार सिंह॥ नई सरकार ने सत्ता संभालने के बाद से सूचना के सामान्य स्रोतों और परंपरागत तरीकों को बंद करके सेल्फी पत्रकारिता और मन की बात जैसी रिपोर्टिंग शुरू की है। प्रधानमंत्री विदेशी दौरों…

भ्रष्टाचार जिन पर सुब्रमण्यम स्वामी रहस्यमयी चुप्पी साध…

-अभिषेक पराशर॥ अक्सर सुर्खियों में रहने वाले सुब्रमण्यम स्वामी की पहचान 'बड़े भ्रष्टाचारियों' को सलाखों के पीछे पहुंचाने वाले नायक की रही है. स्वामी बड़े विकेट गिराने के लिए जाने जाते हैं. लोग उन्हें 'सुब्रमण्यम…

अम्बेडकर पर संसद में चर्चा: विचार दरकिनार, सिर्फ…

-भंवर मेघवंशी॥ भारतीय संसद ने संविधान निर्माण में अम्बेडकर के योगदान पर दो दिन तक काफी सार्थक चर्चा करके एक कृतज्ञ राष्ट्र होने का दायित्व निभाया है .इस चर्चा ने कुछ प्रश्नों के जवाब दिये…

राजस्थान सरकार का दलितों को तोहफा, अम्बेडकर लॉ…

एक तरफ केंद्र की भाजपा सरकार संविधान निर्माता बाबा साहब अम्बेडकर की 125 वी जयंती का समारोह मना रही है, वहीँ दूसरी तरफ राजस्थान की वसुंधराराजे सरकार ने अम्बेडकर के नाम पर स्थापित विधि विश्वविध्यालय…

ब्रिटेन के पास न्यूक्लियर में ज़्यादा कुछ है…

-कुमार सुन्दरम॥   ब्रिटेन के पास न्यूक्लियर में ज़्यादा कुछ है नहीं भारत को देने को। बढ़ती कीमतों, सस्ते और सुगम होते नवीकरणीय विकल्पों और सुरक्षा कारणों से वहाँ परमाणु उद्योग पहले से ही ढलान…

बीजेपी के दिल्ली स्थित केन्द्रीय कार्यालय में चारों…

-एम् अख्तर उद्दीन मुन्ने भारती॥ नई दिल्ली: बिहार चुनाव मतगणना के दिन भाजपा कार्यालय में सुबह से ही पार्टी कार्यकर्ताओं और नेताओं के चेहरे पर ख़ुशी देखी जा सकती थी। टीवी पर जैसे जैसे रिज़ल्ट…

Loading

चुप्पी तोड़िये प्रधानमंत्री जी

देश चला रहे शख्स का संवेदनशील मामलों पर चुप रहना और उनके सहयोगियों की गैरजिम्मेदाराना बयानबाज़ी राष्ट्र की एकता को गंभीर क्षति पंहुचा रही है .. -भंवर मेघवंशी|| आज देश के हर क्षेत्र के नामचीन…

इस ट्रेलर से डर लगता है..

हम जिस दौर में जी रहे हैं उसमें सबकुछ संभव है.. जिस भय का पहला कदम समक्ष आ जाए और हम फिर भी शुतुरमुर्ग बने रहें तो उसे समय कभी माफ़ नहीं करता। कॉर्पोरेट जगत…

कहीं देर न हो जाय..

-बसंत कुमार।। भाजपा एक राजनीतिक दल के हिसाब से २१०४ का आम चुनाव नहीं जीती थी बल्कि नरेंद्र मोदी की यह जीत भाजपा के लिए एक शानदार तोहफा था. ज्यादातर मतदाताओं ने मोदी के गुजरात…

मनमोहन सिंह – पिंजड़े से बाहर आईये..

-वीर विनोद छाबड़ा॥ जन्मदिन मुबारक। दस साल तक प्रधानमंत्री रहे हैं सरदार मनमोहन सिंह जी। आपसे पहले नरसिम्हा राव जी मौनी बाबा कहलाते रहे। लेकिन आप तो उनसे भी बड़े साबित हुए। आप पर बेशुमार…

आरक्षण के ख़िलाफ़ हवाई घोड़े..

क्या हार्दिक पटेल की बात में कोई दम है? क्या आरक्षण ख़त्म कर देना चाहिए या फिर आर्थिक आधार पर देना चाहिए? शहरी मध्य वर्ग का बड़ा तबक़ा हार्दिक पटेल की हाँँ में हाँ मिलाता…

अबकी बार कुशवाहा सरकार..

-दिलीप सी मण्डल॥ बिहार की राजनीति का एक महत्वपूर्ण पड़ाव है त्रिवेणी संघ। लगभग सौ साल पहले के इस राजनैतिक सामाजिक आंदोलन की छाप बिहार की राजनीति पर अमिट है। सवर्ण वर्चस्व को तोड़ने के…