Loading...
You are here:  Home  >  'आदिवासी'
Latest

मोदी जी सुनिए तो..

By   /  February 12, 2018  /  व्यंग्य  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-अंशुल कृष्णा॥ आदरणीय मोदी जी, अभी अभी केतली से चाय लेकर एक मगरमच्छ नुमा पकौड़ा हाथ में लिया ही था कि एक खबर देखकर चौंक गया ,खबर थी कि आप फिलिस्तीन में हैं और वहां 6 अहम करारों में एक करार नेहरू स्कूल को लेकर भी है ,वही […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

देखो मुझे, महाप्रतापी महिषासुर की वंशज हूं मैं…

By   /  October 13, 2013  /  देश  /  1 Comment

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..अक्टूबर, 20111 में हिंदी लेखक व सामाजिक चिंतक प्रेमकुमार मणि ने ‘फारवर्ड प्रेस’ की कवर स्टोरी ‘किसकी पूजा कर रहे हैं बहुजन’ में अनेक विचारोत्तेजक सवाल उठाते हुए कहा था कि बंगाल की वेश्याएँ दुर्गा को अपने कुल का बताती हैं. जिस महिषासुर की दुर्गा ने हत्या की, […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

आदिवासी युवतियों से ज़बरन देह व्यापार का राजफाश…

By   /  October 9, 2012  /  अपराध  /  3 Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..मामा के राज में आदिवासी भांजियों को रोजगार के नाम पर जबरन देह व्यापार के धंधे में झोंके जाने का राज फाश हुआ है. मध्यप्रदेश के पिछडे बुन्देलखण्ड में छतरपुर जिला मुख्यालय पर लगभग बीस साल से चलने वाले देह व्यापार के अडडे पर पुलिस अधीक्षक सियास ए […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

समन्दर में टापू जैसा एक गांव…

By   /  September 10, 2012  /  देश, राज्य  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-लखन सालवी|| ‘‘एक जाति विशेष के लोग इस गांव में कोई विकास कार्य नहीं होने देना चाहते है. उनका मकसद है कि विकास के अभाव में समस्याओं से जूझते भील समुदाय के लोग कोड़ियों के दामों में अपनी जमीनें बेच कर वहां से चले जाए.’’ भीलवाड़ा जिले की […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

ये वही संगमा हैं, जो सोनिया से माफी मांग चुके हैं

By   /  July 25, 2012  /  राजनीति  /  1 Comment

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..देश के इतिहास में कदाचित पहली बार राष्ट्रपति जैसे गरिमापूर्ण पद के चुनाव में इतनी छीछालेदार हुई है। हालांकि चुनाव की सीधी टक्कर में पी ए संगमा को स्वाभाविक रूप से चुनाव प्रचार के दौरान बयानबाजी करने का अधिकार था, मगर उन्होंने जिस तरह स्तर से नीचे जा […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Page Reader Press Enter to Read Page Content Out Loud Press Enter to Pause or Restart Reading Page Content Out Loud Press Enter to Stop Reading Page Content Out Loud Screen Reader Support
%d bloggers like this: