Loading...
You are here:  Home  >  'गुनाहगार'
Latest

औरतें, ‘व्यभिचार’ परिवार,नैतिकता और समाज

By   /  September 28, 2018  /  देश  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-मणिमाला|| भारतीय दंड संहिता की धारा 497 पर आए सुप्रीम कोर्ट फैसले के बाद कुछ लोगों को लग रहा है कि हर औरत व्यभिचारी हुई जा रही है. समाज अनैतिकता के गर्त में गिरा जा रहा है. सवाल उठ रहे हैं कि अब परिवार का क्या होगा? बच्चों […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

हम तो ‘फेंक’ चुके सनम..

By   /  July 16, 2013  /  व्यंग्य  /  1 Comment

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-अशोक मिश्र|| उस्ताद गुनाहगार के घर पहुंचा, तो वे कुछ लिखने पढ़ने में मशगूल थे. चरण स्पर्श करते हुए कहा, ‘क्या उस्ताद! पॉकेटमारी का धंधा छोड़कर यह बाबूगीरी कब से करने लगे?’ गुनाहगार ने चश्मा उतारकर मेज पर रखते हुए कहा, ‘क्या करूं? दोस्तों की बात तो माननी […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Page Reader Press Enter to Read Page Content Out Loud Press Enter to Pause or Restart Reading Page Content Out Loud Press Enter to Stop Reading Page Content Out Loud Screen Reader Support
%d bloggers like this: