Loading...
You are here:  Home  >  'पर्यावरण'
Latest

धार्मिक स्थल व्याभिचार के सबसे बड़े अड्डे रहे हैं सदियों से..

By   /  April 14, 2018  /  देश  /  1 Comment

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..मंदिरों में व्यभिचार की घटनाएं देखकर उस वैदिक साधु ने तान दी थी विरोध के धनुष की प्रत्यंचा और ढेर कर दिया था अध्यात्म की गरिमा के हंताओं को.. -त्रिभुवन|| लोग उसे स्वामी विवेकानंद की तरह प्रेम नहीं करते, क्योंकि वह विदेशी भाषा में विदेशी लोगों को प्रसन्न […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

जैसे आदिवासी गांव राजस्व गांव बतौर दर्ज नहीं होते, वैसे ही हिमालयी गांव भी लावारिस!

By   /  July 13, 2013  /  देश  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..सवाल यह है कि तीर्थाटन और पर्यटन का जो कारोबार है और मुक्त बाजार में जो विकास कार्यक्रम हैं, उनपर कब्जा किनका है? सातमंजिली आधुनिकता से केदारनाथ तीर्थटन के प्राण  और नदीप्रवाह की प्रतिष्ठा खंडित तो  हुई मगर इस आधुनिकता ने कितने हिमालयी लोगों का कितना हित साधा? पर्यटनस्थलों […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

औद्योगिक विकास की राह में उजड़ता पर्यावरण

By   /  June 5, 2013  /  टेक्नोलॉजी, बहस  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-आशीष वशिष्ठ|| विकास की मौजूदा अवधारणा और इस अवधारणा के तहत बनाई गई औद्योगिक नीतियों के चलते हमारे पर्यावरण को गंभीर नुकसान पहुंच रहा है. इसी अहसास के चलते विनाशकारी विकास और पर्यावरण के बीच टकराव तेज होता जा रहा है. वर्तमान में संम्पूर्ण उद्योग धंधों का विस्तार […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Page Reader Press Enter to Read Page Content Out Loud Press Enter to Pause or Restart Reading Page Content Out Loud Press Enter to Stop Reading Page Content Out Loud Screen Reader Support
%d bloggers like this: