Loading...
You are here:  Home  >  'बीमा'
Latest

कोरोना से मौत हो सकती है, होना ज़रूरी नहीं!

By   /  March 27, 2020  /  मीडिया, संकट  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-श्याम मीरा सिंह।। भले ही कोविड-19 का वाजिब इलाज अभी तक नहीं है, लेकिन ऐसा नहीं है कि इसके होने से मृत्यु होना तय ही है. असल में इससे संक्रमित लोगों की मृत्यु दर बेहद सामान्य है. कुछ आंकड़े आपके लिए हैं, जो पैनिक हो चुके माहौल को […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

विमान सेवाएं बंद करने की क्रोनोलॉजी भी समझ लीजिए..

By   /  March 24, 2020  /  संकट  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-संजय कुमार सिंह।। कोरोना वायरस से संबंधित पिछली क्रोनोलॉजी से आप जानते हैं कि देश में इस मामले में कार्रवाई देर से शुरू हुई और समय रहते आवश्यक सावधानी नहीं बरती गई, ना आवश्यक तैयारियां शुरू हुईं। इस संबंध में देश भर में घोषित और सार्वजनिक स्तर पर […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

बोझ से महिलाओं के दबे हुए सिर देश का सिर ऊंचा कैसे करते हैं?

By   /  March 5, 2020  /  नज़रिया  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-सुनील कुमार।। भारत सरकार के रेल मंत्रालय ने कल ट्विटर पर कुछ तस्वीरें पोस्ट की हैं जिनमें अलग-अलग रेलवे स्टेशनों पर सिर पर बोझ लेकर जाती हुई महिला कुली दिख रही हैं, और एक तस्वीर में एक महिला कुली एक लदी हुई ट्रॉली भी खींच रही है। रेलवे […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

चुनाव प्रचार – जिसने समर्थकों की सोच, जरूरत और प्राथमिकता बदल दी..

By   /  February 9, 2020  /  मीडिया  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-संजय कुमार सिंह।। दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा का प्रचार ऐसा रहा कि लोग सरकारी मुफ्त सेवाओं के विरोधी हो गए हैं उसके खिलाफ बोलने लगे हैं। सरकार का काम है कि वह नागरिकों की बुनियादी जरूरतें पूरी करे और शिक्षा व इलाज इनमें सबसे महत्वपूर्ण हैं। […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

गुप्त विकास: विकास हुआ लेकिन देशवासियों को पता ही न चला..

By   /  February 3, 2020  /  देश  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..देश ऐसा बदला कि गृह मंत्री को पर्चा बांट कर बताना पड़ रहा है -संजय कुमार सिंह।। दिल्ली के अखबारों और अखबारों के दिल्ली संस्करण में आज खबरों के पहले पन्ने पर भाजपा के दो विज्ञापन हैं कांग्रेस और आम आदमी पार्टी का कोई नहीं। इससे भाजपा के […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

दीपक चौरसिया ने जैसा बोया वही काट रहा है..

By   /  January 25, 2020  /  मीडिया  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-दिलीप खान।। दीपक चौरसिया को रोका गया. उसके चैनल ने दिखाया पीटा गया. लोगों ने लिखा पत्रकारिता पर हमला हो गया. शाहीन बाग़ में बीते महीने भर से तमाम पत्रकार गए और रिपोर्टिंग करके लौटे. सब अलग-अलग विचारधारा के लोग थे. पत्रकारिता में एक विचारधारा के लोग कभी […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

गहलोत सरकार, भ्रष्टाचार की शिकार और नवजात बच्चों पर मौत की मार..

By   /  January 3, 2020  /  देश  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-सुरेन्द्र ग्रोवर|| कभी संवेदनशील प्रशासन देने का वायदा करने वाले  अशोक गहलोत तीसरी बार राजस्थान के मुख्यमंत्री बनने के बाद राज्य की चिकित्सा व्यवस्था ही नहीं बल्कि छोटे छोटे बच्चों के लिए भी कितने संवेदनहीन साबित हो रहे हैं कि कोटा के जेके लोन अस्पताल में सिर्फ एक महीने में 103 बच्चों के काल का ग्रास बन जाने पर भी महज़ दो सौ किलोमीटर दूर कोटा स्थित इस अस्पताल का दौरा करने की बजाए जयपुर से साढ़े तीन सौ किलोमीटर दूर अपने गृह जिले और चुनाव क्षेत्र जोधपुर पहुँच उद्घाटनों में मशगूल हो गए.   गौरतलब है कि राजस्थान की चिकित्सा व्यवस्था शुरू से रामभरोसे चल रही है. अधिकांश सरकारी अस्पताल खुद मृत्युशैया पर पड़े सिसक रहे है. बच्चों के लिए बने जयपुर और कोटा इत्यादि के अस्पताल भारी अव्यवस्थाओं और लालफीताशाही के शिकार हैं. एक एक बिस्तर पर दो से तीन बच्चों का इलाज होना आम बात है.  यहाँ तक कि कई बार तो गंभीर रूप से बीमार दुधमुंहे  बच्चों को आले में लिटा कर इलाज किया जाता है. अस्पतालों के उपकरण अक्सर दम तोड़े पड़े रहते हैं. इन उपकरणों को फिर से दुरुस्त करने में महीनों लग जाते हैं, क्योंकि यह एक लम्बी प्रक्रिया होती है. पहले फण्ड माँगा जायेगा, फिर टेंडर निकलेगा, टेंडर पास होगा और उसके बाद ही उपकरणों कि मरम्मत हो पाती है और इसके चलते कई गम्भीर बीमार सही इलाज के अभाव में दम  तोड़ देते हैं.   याद रहे इन सरकारी अस्पतालों में सिर्फ गरीब लोग ही जाने को विवश होते है. साधन सम्पन्न लोग तो कभी इन अस्पतालों का रुख ही नहीं करते. हाँ, कुछ रसूखदार लोग ज़रूर इन अस्पतालों में वीवीआईपी की तरह मुफ्त इलाज करवाने पहुँचते रहते हैं और अस्पताल प्रशासन भी ऐसे लोगों की तीमारदारी में अपनी पूरी ताकत झोंक देता है.   हमने कोटा जेके लोन अस्पताल में पिछले दिनों में हुई 103 बच्चों की मौत के कारण जानने के लिए कोटा शहर के कुछ नागरिकों से बात की तो यही कहानी सामने आई. कोटा निवासी और राजस्थान के पूर्व शिवसेना प्रमुख प्रमोद चतुर्वेदी ने बताया कि कुछ समय पहले अपने बच्चे के बीमार पड़ने पर जेके लोन अस्पताल में ले गए थे लेकिन उनके बच्चे का इलाज तब तक शुरू नहीं हुआ, जबतक उन्होंने अपने राजनैतिक प्रभाव का उपयोग नहीं किया.    इसी तरह कोटा के एक पत्रकार ब्रिजेश विजयवर्गीय का कहना था कि जेके लोन भ्रष्टाचार और अव्यवस्थाओं का अड्डा बना हुआ है. इस अस्पताल के जीवन रक्षक उपकरण अक्सर ख़राब रहते हैं और उनके सुधरने में महीनों लग जाते हैं और सुधारने की प्रक्रिया में भी भारी भ्रष्टाचार होता है. यदि इसकी शिकायत भी की जाती है तो कोई सुनवाई नहीं होती. यहाँ तक कि खबरें लिखने का भी कोई असर नहीं होता.   जब हमने इस मुद्दे पर बात करने के लिए राजस्थान के चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा को फोन किया तो उनके सचिव मनोज पारीक ने कहा कि मंत्री जी मीटिंग में हैं, इसलिए कुछ देर में कॉल बेक करवाता हूँ. लम्बे समय तक इंतजार के बाद हमने दोबारा फोन किया तो भी मनोज पारीक ने ही रघु शर्मा का मोबाईल फोन उठाया और फिर वही रट्टा पढ़ दिया. इसके बाद हमने उन्हें देर रात एसएमएस किया  लेकिन रघु शर्मा हमसे बात करने से बचते रहे.  इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

नरेंद्र मोदी दिवालिया होने के कगार पर खड़े अनिल अम्बानी का कौन सा क़र्ज़ा उतार रहे हैं..

By   /  October 5, 2018  /  देश  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..–जितेंद्र नरूका॥ जल्दी ही फाइनेंस मिनिस्टर, RBI गवर्नर आदि आदि अर्थशास्त्रियों के बयान आ सकते हैं! “LIC भारतीय जीवन बीमा निगम और GIC जनरल बीमा निगम सक्षम नहीं तो हल्ला मत मचाईए” जैसे HAL से 59,000 करोड़ की डील छीन कर अनिल अंबानी की 2 हफ्ते पूर्व बनी […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

वर्तमान राजनीति हमें बेईमान बना रही है

By   /  April 6, 2018  /  देश  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-अरुण कुमार झा|| कोई व्यक्ति जन्मजात नैतिकताविहीन नहीं होता। नैतिक और अनैतिक संस्कार उसे परिवार और अपने समाज से मिलता है। जैसा पारिवारिक परिवेश होगा बच्चे के मन पर वैसा ही संस्कार अंकित होगा। संस्कारों के क्रमिक विकास में समाज का बड़ा योगदान होता है। बच्चे जिस समाज-चरित्र […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

ममता के विरोध से केन्द्र सरकार को कोई फर्क नहीं पड़ता…

By   /  August 24, 2012  /  राजनीति  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-एक्सकैलिबर स्टीवेंस विश्वास|| ममता के मौखिक विरोध से सरकार को कोई फर्क नहीं पड़ता, क्योंकि किसी भी हाल में वह सरकार गिराने की स्थिति में नहीं हैं. बनर्जी ने कहा कि विदेशी निवेश से आम आदमी का हित प्रभावित होगा. उन्होंने कहा कि हमने चुनाव घोषणापत्र में जो […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →

Manisa escort Tekirdağ escort Isparta escort Afyon escort Çanakkale escort Trabzon escort Van escort Yalova escort Kastamonu escort Kırklareli escort Burdur escort Aksaray escort Kars escort Manavgat escort Adıyaman escort Şanlıurfa escort Adana escort Adapazarı escort Afşin escort Adana mutlu son

Eyyübiye escort Fatsa escort Kargı escort Karayazı escort Ereğli escort Şarkışla escort Gölyaka escort Pazar escort Kadirli escort Gediz escort Mazıdağı escort Erçiş escort Çınarcık escort Bornova escort Belek escort Ceyhan escort Kutahya mutlu son
Page Reader Press Enter to Read Page Content Out Loud Press Enter to Pause or Restart Reading Page Content Out Loud Press Enter to Stop Reading Page Content Out Loud Screen Reader Support
WhatsApp chat
%d bloggers like this: