Loading...
You are here:  Home  >  'हंस'
Latest

क्रिसमस की रात और चार्ली चैप्लिन की बात

By   /  December 25, 2019  /  कला व साहित्य  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें.. चार्ली ने अपनी नृत्यांगना बेटी को एक मशहूर खत लिखा। कहा मैं सत्ता के खिलाफ विदूषक रहा, इसलिए तुम भी गरीबी जानो, मुफलिसी का कारण ढूंढो, इंसान बनो, इंसानों को समझो, जीवन में इंसानियत के लिए कुछ कर जाओ, खिलौने बनना मुझे पसंद नहीं बेटी। बूढ़े पिता […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

प्रसून भाई, साला पैसा तो लगा, लेकिन दिल था कि फिर बहल गया, जाँ थी कि फिर संभल गई!

By   /  April 19, 2018  /  मीडिया  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-त्रिभुवन || वह लंदन से पत्र लिख रहा था। प्रसून भाई, कॉमनवेल्थ हेड्स ऑफ़ गवर्नमेंट मीटिंग (चोगम) सम्मेलन का इस तरह फ़ायदा उठवाने के लिए तुम्हें अपने हृदय तल से कितना साधुवाद दूं! मेरे पास शब्द नहीं हैं। मेरे यार तुमने तो कमाल कर दिया। साला मैं तो […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

शंकराचार्य का बेहद आदर करता था टीपू सुल्तान..

By   /  April 16, 2018  /  धर्म  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-अरुण प्रकाश मिश्र|| मैसूर की अधिकांश आबादी हिन्दू थी। टीपू सुलतान के दरबार में ऊंची से ऊंची पदवियां हिन्दूओं को मिली हुई थी। उसके दो मुख्यमंत्री पुर्निया और कृष्णराव ब्राम्हण थे, जिनमें पुर्निया उनका प्रधानमंत्री था। इन दोनों मंत्रियों का प्रभाव उस समय अत्यन्त बढ़ा हुआ था। इनके अलावा बेशुमार […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

प्रख्यात साहित्यकार राजेंद्र यादव नहीं रहे…

By   /  October 29, 2013  /  कला व साहित्य  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..हिन्दी साहित्य जगत से जुड़े उपन्यासकार, कहानीकार, कविता और आलोचना सहित साहित्य की तमाम विधाओं में एक जैसी पकड़ रखने वाले राजेंद्र यादव का सोमवार देर रात करीब 12 बजे निधन हो गया. वह 84 साल के थे. यादव की कल रात अचानक तबियत खराब हो गई और […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

विचारों का वामपंथी फासीवाद…

By   /  August 4, 2013  /  कला व साहित्य  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें.. -अनंत विजय|| प्रेमचंद की जयंती के मौके पर हिंदी साहित्य की मशहूर पत्रिका हंस की सालाना गोष्ठी राजधानी दिल्ली के साहित्यप्रेमियों के लिए एक उत्सव की तरह होता है. जून आते आते लोगों में इस बात की उत्सुकता जागृत हो जाती है कि इस बार हंस की गोष्ठी […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Page Reader Press Enter to Read Page Content Out Loud Press Enter to Pause or Restart Reading Page Content Out Loud Press Enter to Stop Reading Page Content Out Loud Screen Reader Support
WhatsApp chat
%d bloggers like this: