Loading...
You are here:  Home  >  'हिन्दी'
Latest

केंद्र सरकार के दावे खुद उड़ा रहे खुद का मखौल..

By   /  January 29, 2020  /  देश  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-संजय कुमार सिंह। आज के हिन्दी अखबारों में भाजपा का यह विज्ञापन छपा है। इसमें भाजपा ने जिन “ऐतिहासिक” फैसलों की बात की है उनमें एक पिछले लोकसभा चुनाव से पहले और दो चुनाव जीतने के बाद का फैसला है। कहने की जरूरत नहीं है कि क्रम भी […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

पश्चिमी मीडिया के कवर पर क्यों बदली मोदी और भारत की छवि?

By   /  January 27, 2020  /  मीडिया  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-रवीश कुमार।। इंटरनेट के ज़माने की राजनीति से अच्छी तो बैलगाड़ी के ज़माने की राजनीति थी. झूठ की रफ्तार भी कम थी और नेताओं की अर्थहीन बातें सेकेंड-सेकेंड आपके इनबाक्स में नहीं पहुंचती थीं. भारत का नौजवान सुबह आंख खोलता है कि आज उसकी नौकरी और कस्बे के […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

बीबीसी हिन्दी के रेडियो प्रसारण नहीं बंद हो रहे, बल्कि इस युग की रातों का एक चंद्रमा लुप्त हो रहा है..

By   /  January 22, 2020  /  मीडिया  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें.. -त्रिभुवन ।। भारत-पाकिस्तान सीमा क्षेत्र में बहती गंगनहर का सुलेमान की हैड। 40-50 घरों की आबादी वाला गांव। नाम चक 25 एमएल। बात 75-76 की है। गांव में पांचवीं से अधिक शायद ही कोई पढ़ा। गांव में या तो सिख थे या दलित। या तो खेती या […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

क्या कांग्रेस मुग़ल साम्राज्य का अंतिम अध्याय और राहुल गांधी बहादुर शाह ज़फ़र के ताज़ा संस्करण हैं?

By   /  May 16, 2018  /  राजनीति  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-त्रिभुवन|| वैसे तो यह टिप्पणी कांग्रेस के तपस्वी और निर्भीक नेता बाबू गंगाशरण सिंह ने भारत-पाकिस्तान युद्ध से कुछ समय पहले तत्कालीन प्रधानमंत्री लालबहादुर शास्त्री के लिए की थी, लेकिन आज यह टिप्पणी पार्टी के वर्तमान राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी पर सटीक बैठती है। बाबू गंगाशरण सिंह इस्पाती […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

शंकराचार्य का बेहद आदर करता था टीपू सुल्तान..

By   /  April 16, 2018  /  धर्म  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-अरुण प्रकाश मिश्र|| मैसूर की अधिकांश आबादी हिन्दू थी। टीपू सुलतान के दरबार में ऊंची से ऊंची पदवियां हिन्दूओं को मिली हुई थी। उसके दो मुख्यमंत्री पुर्निया और कृष्णराव ब्राम्हण थे, जिनमें पुर्निया उनका प्रधानमंत्री था। इन दोनों मंत्रियों का प्रभाव उस समय अत्यन्त बढ़ा हुआ था। इनके अलावा बेशुमार […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

धार्मिक स्थल व्याभिचार के सबसे बड़े अड्डे रहे हैं सदियों से..

By   /  April 14, 2018  /  देश  /  1 Comment

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..मंदिरों में व्यभिचार की घटनाएं देखकर उस वैदिक साधु ने तान दी थी विरोध के धनुष की प्रत्यंचा और ढेर कर दिया था अध्यात्म की गरिमा के हंताओं को.. -त्रिभुवन|| लोग उसे स्वामी विवेकानंद की तरह प्रेम नहीं करते, क्योंकि वह विदेशी भाषा में विदेशी लोगों को प्रसन्न […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Latest

अमृतलाल नागर साहित्य की हर विधा में पारंगत थे…

By   /  August 17, 2013  /  कला व साहित्य  /  No Comments

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..

इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..-संजोग वाल्टर|| अमृतलाल नागर, 17 अगस्त, 1916 – 23 फ़रवरी, 1990) हिंदी के प्रसिद्ध साहित्यकार थे. इन्होंने नाटक, रेडियो नाटक, रिपोर्ताज, निबन्ध, संस्मरण, अनुवाद, बाल साहित्य आदि के क्षेत्र में भी महत्वपूर्ण योगदान दिया है. इन्हें साहित्य जगत में उपन्यासकार के रूप में सर्वाधिक ख्याति प्राप्त हुई तदापि उनका […]


इस खबर को अपने मित्रों से साझा करें..
Read More →
Page Reader Press Enter to Read Page Content Out Loud Press Enter to Pause or Restart Reading Page Content Out Loud Press Enter to Stop Reading Page Content Out Loud Screen Reader Support
WhatsApp chat
%d bloggers like this: