जन लोकपाल बिल छोड़ राहुल के समोसों पर टूट पड़े हजारे समर्थक

जन लोकपाल बिल की मांग को लेकर 12 तुगलक लेन स्थित राहुल गांधी के आवास पर शुक्रवार शाम को अन्ना के समर्थकों ने प्रदर्शन किया। प्रदर्शन खत्म होने के बाद इन्हें पुलिस ने हिरासत में ले लिया। मजेदार बात रही कि पुलिस जब समर्थकों को तुगलक रोड थाने ले जाने के लिए बसों में भरने लगी, तो वहां राहुल गांधी के आवास से समोसों और कोल्ड ड्रिंक की बोतलें भेज दी गईं, जिन पर दर्जनों समर्थक टूट पड़े। समर्थकों के इस बर्ताव पर एक बार खुद पुलिस भी हैरान हो गई।

अन्ना के अनशन को लेकर राहुल गांधी के बयान से गुस्साए सैकड़ों समर्थक शुक्रवार शाम करीब 5 बजे 12 तुगलक लेन पर एकत्र हुए। यहां उन्होंने राहुल गांधी के घर के बाहर कई घंटे जमकर नारेबाजी की। पुलिस ने राहुल के घर के इर्द-गिर्द बैरियर लगाकर आने-जाने के सारे रास्ते ब्लॉक कर दिए। इस दौरान कई समर्थकों ने नारेबाजी करते हुए राहुल के घर की तरफ बढ़ने की कोशिश की, जिन्हें पुलिस ने हिरासत में ले लिया। इसके बाद तमाम समर्थक सड़क पर लेट गए और काफी देर तक नारेबाजी करते रहे। प्रदर्शनकारियों में युवतियों की मौजूदगी को देखते हुए उन्हें संभालने के लिए पुलिस ने बाद में महिला पुलिसकर्मियों की एक टुकड़ी को भी वहां बुला लिया।

पुलिस की कॉल पर डीटीसी ने तीन बसें घटनास्थल पर भेज दी। प्रदर्शन खत्म होने के बाद पुलिस ने तमाम समर्थकों को हिरासत में ले लिया, जिन्हें थाने ले जाने के लिए पुलिस बस में बैठाने लगी। इसी दौरान राहुल के घर से कुछ कर्मचारी समोसों से भरे कार्टून और कोल्ड ड्रिंक की बोतलों से भरे पॉलीथिन लेकर बसों की ओर बढ़े। बस पर पहुंचकर उन्होंने समर्थकों को कोल्ड ड्रिंक और समोसे बांटने शुरू कर दिए, जिन पर दर्जनों समर्थक बेतकल्लुफ टूट पड़े। आलम यह था कि बस के अंदर कोल्ड ड्रिंक को लेकर खींचतान शुरू हो गई। समर्थकों ने बस के बाहर से हाथ निकाल-निकाल कर समोसे मांगने शुरू कर दिए।

इसके बाद पुलिस तमाम समर्थकों को तुगलक रोड थाने ले आई। उन्हें यहां कुछ समय रखने के बाद छोड़ दिया गया। राहत की बात रही कि प्रदर्शन को देखते हुए पुलिस ने शुक्रवार को कोई रोड ब्लॉक नहीं की। इससे लोग ट्रैफिक जाम और रूट डायवर्जन का सामना करने से बच गए। बता दें कि गुरुवार को पीएम हाउस पर प्रदर्शन के मद्देनजर पुलिस ने कई महत्वपूर्ण मार्गों को ब्लॉक कर दिया था। इससे लोगों को आने-जाने में काफी परेशानी हुई थी।

(नभाटा की खबर पर आधारित पोस्ट)

Facebook Comments Box

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *