चैनलों में मची MMS दिखाने की होड़, पुलिस ने कहा, लड़कियों ने किया था मज़ाक

चंडीगढ़ के पास पंचकुला में एक छात्रा का न्यूड एमएमएस बनाने का मामला एक तरफ जहां इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के लिए टीआरपी का फॉर्मूला बन रहा है वहीं दूसरी तरफ पुलिस इस मामले को लड़कियों का आपसी मज़ाक बता कर रफा-दफा करने में जुटी है।

 

पंचकुला सेक्टर 5 की पुलिस ने मंगलवार को पीड़ित छात्रा से लिखित शिकायत तो ले ली, लेकिन मामला भी दर्ज़ नहीं किया। थानाध्यक्ष ओम-प्रकाश पर पूरा मामला पलटने की कोशिश करने के आरोप लग रहे हैं। पुलिस की मानें तो लड़कियों ने यह सब कुछ ‘आपसी मज़ाक’ में किया था। पुलिस के मुताबिक पांचों लड़कियां आपस में दोस्त हैं और उनमें पार्टी लेने को लेकर मज़ाक चल रहा था। अभी तक किसी की गिरफ्तारी भी नहीं हुई है।

 

मंगलवार को दिन भर लगभग सभी न्यूज़ चैनलों के आई टी एक्सपर्ट एमएमएस तलाशने की जुगत लगाते रहे। कुछ चैनलों ने इसे हासिल भी कर लिया और एडिट कर काफी हद तक दिखाया भी। हालांकि हर चैनल इसे गलत और अनैतिक ठहराता रहा लेकिन किसी ने यह बताने की जरूरत नहीं समझी कि जिस वीडियो के बनने पर वो इतना हंगामा मचा रहे हैं, उसे सार्वजनिक कर दिखाना कितना नैतिक है।

 

गौरतलब है कि 26 सितंबर को पंचकुला के सेक्टर 4 में चार लड़कियों ने एक 19 वर्षीय युवती को न सिर्फ मारा पीटा, बल्कि उसका अश्लील वीडियो बना कर इंटरनेट पर अपलोड कर दिया।

Facebook Comments Box

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *