चुनाव प्रचार के अनोखे तरीके: कहीं ओबामा बेच रहे हैं टी-शर्ट, तो कहीं कमसिन कार्यकर्ता ने उतारे कपड़े

इन दिनों इंटरनेट पर दो चुनाव प्रचार अभियानों की खूब चर्चा है।  सवाल यह भी उठ रहे हैं कि क्या दोनों में से किसी भी अभियान की नकल भारत में होने वाले चुनावी अभियानों में की जा सकती है?

बराक ओबामा की वेबसाइट पर टी शर्ट का विज्ञापन

पहली चर्चा दुनिया के सबसे ताकतवर देश के सबसे महंगे कैंपेन में उतरने को तैयार शासनाध्यक्ष की। अमेरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने अपनी वेबसाइट को ई-कॉमर्स वेबसाइट बनाना शुरु कर दिया है। पहले इस वेबसाइट पर पांच डॉलर की ऐसी लकी ड्रॉ स्कीम चलती थी जिसमें जीतने वाले को ओबामा के साथ डिनर करने का मौका मिलता था। अब इस पर औबामा के अगले अभियान- 2012 के निशान वाली टी शर्ट, बैग, ऐप्रन, स्टिकर, कप, बेल्ट आदि जैसी चीजें बिक रही हैं।

 

अब राष्ट्रपति चुनाव नजदीक आ रहे हैं और चुनाव लड़ने का खर्च निकालने के लिए ओबामा ने यह एक साफ-सुथरी तरकीब निकाली है। उनकी वेबसाइट www.barakobama.com पर फिलहाल छोटी-मोटी चीजों की बिक्री शुरु की गई है, लेकिन आगे चल कर शायद प्रचार सामग्री के अलावा भी कुछ बिकने लगे। गौर करने वाली बात यह है कि राष्ट्रपति की इस वेबसाइट को भी टैक्स आदि में कोई छूट नहीं मिल रही है, लेकिन उन्हें उम्मीद है कि वे अपने नाम के ब्रैंडनेम का इस्तेमाल कर शुद्ध व्यापार से भी अच्छी रकम इकट्ठा कर लेंगे जिसका इस्तेमाल आगामी चुनाव में होगा। क्या दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र भारत के राजनेता भी ओबामा के इस कदम से कोई सबक ले सकेंगे?

 

पोलैंड में चुनाव प्रचार में जुटी कैटैर्ज़िना

इंटरनेट पर चर्चित हो रहा दूसरा अभियान पोलैंड का है। वहां की एक राजनीतिक कार्यकर्ता कैटैर्ज़िना लेनार्ट ने वोटरों को आकर्षित करने के लिए एक अनोखा फॉर्मूला खोज निकाला है। पोलैंड में इन दिनों पार्लियामेंट्री चुनाव होने वाले हैं और लेनार्ट इलेक्शन में भाग ले रही डेमोक्रेटिक लेफ्ट एलायंस की सदस्य हैं।

इस वीडियो में 23 वर्षीय कमसिन राजनीतिक कैटैर्ज़िना लेनॉर्ट कपड़े उतारते हुए जनता से उनकी पार्टी को वोट देने की अपील कर रही हैं। इस प्रचार के बारे में अखबार ऑस्ट्रियन टाइम्स में विशेष फीचर छपा है, जिसके अनुसार इसके अंत में एक स्लोगन लिखा आता है “यू वान्ट मोर? वोट फॉर SLD. औनली वी कैन डू मोर।”

देखना है पोलैंड के वोटर इस हॉट प्रचार को देखकर कैटैर्ज़िना की पार्टी को कितना वोट देते हैं। साथ ही चिंता की बात ये भी है कि पूनम पांडे या योगिता जैसी किसी समर्पित कार्यकर्ता को चुनाव प्रचार के बहाने पब्लिसिटी हासिल करने का ये तरीका न भा जाए। देखिए इस प्रचार का वीडियो..

https://youtube.com/watch?v=9xHIkB_6vzU%3F

 

Facebook Comments Box

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *