भाषा सिंह, केएन सिंह समेत कईयों ने नईदुनिया को सौंपा इस्‍तीफा, कागजी शेर बने आलोक मेहता?

नईदुनिया, दिल्‍ली से खबर है कि रोविंग एडिटर भाषा सिंह, डिप्‍टी आरई केएन सिंह, अनूप भटनागर, दिनेश अग्रहरि, अमित, संजय त्रिपाठी एवं एम यादव ने इस्‍तीफा दे दिया है। भाषा सिंह ने जहां तीन दिन पहले ही इस्‍तीफा सौंप दिया था, वहीं केएन सिंह आज अपना इस्‍तीफा सौंपा। अन्‍य सभी ने भी अपना इस्‍तीफा दे दिया है। बताया जा रहा है कि इन सभी लोगों से इस्‍तीफा छंटनी की कवायद के तहत मांगा गया है।

इन लोगों के इस्‍तीफा मांगे जाने से अन्‍य सहकर्मी खासे नाराज हैं। सबका गुस्‍सा संपादक आलोक मेहता को लेकर है कि वे इन छंटनियों के खिलाफ कुछ भी नहीं बोल रहे हैं। खबर है कि आने वाले दिनों कुछ और लोग इस्‍तीफा दे सकते हैं या उनसे इस्‍तीफा मांगा जा सकता है। उधर कुछ लोग उनकी मजबूरी समझ रहे हैं। एक वरिष्ठ कर्मी ने नाम न छापने की गुजारिश के साथ कहा कि अभी प्रबंधन ने आलोक जी की हालत कागजी शेर की बना दी है।

टीवी टुडे के तीन वरिष्‍ठ लोग जुड़े हैं। विक्रम दास जीएम के रूप में टीवी टुडे ग्रुप ज्‍वाइन किया है। ये ग्रुप के इंटरनेशनल डिस्‍ट्रीब्‍यूशन का काम देखेंगे। राहुल कुमार शा टीवी टुडे समूह के अंग्रेजी चैनल हेडलाइंस टुडे के साथ वाइस प्रेसिडेंट (एड सेल्‍स) के रूप में जुड़े हैं। ये चैनल के राजस्‍व की जिम्‍मेदारी संभालेंगे। देवलीना मजूमदार ने एचआर विभाग में जनरल मैनेजर के रूप में ज्‍वाइन किया है। सभी लोग टीवी टुडे के सीईओ जॉय चक्रवर्ती को रिपोर्ट करेंगे।

दैनिक प्रभात, मेरठ से मुकेश गुप्‍ता ने इस्‍तीफा दे दिया है। वे यहां पर बिजनेस हेड के रूप में जिम्‍मेदारी संभाल रहे थे। सूत्र बताते हैं कि मूल रूप से संपादकीय के आदमी रहे मुकेश गुप्‍ता को प्रबंधन ने वैकल्पिक व्‍यवस्‍था न होने तक सेवाएं देते रहने को कहा है। वे फिर से दैनिक ट्रिब्‍यून से जुड़ गए हैं। वे ट्रिब्‍यून से ही दैनिक प्रभात पहुंचे थे। पिछले ढाई दशकों से पत्रकारिता के क्षेत्र में सक्रिय मुकेश गुप्‍ता इसके पहले मेरठ समाचार, इनदिनों, जनसंदेश गुडगांव, वीर अर्जुन जैसे अखबारों को अपनी सेवाएं दे चुके हैं।

Facebook Comments Box

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *