पांच साल बाद दारू पीकर वानखेड़े स्टेडियम में फिर हंगामा मचा सकते हैं शाहरुख

जरा शाहरुख की आंखों पर ग़ौर से नजर डालें तो सारी हक़ीकत खुद बयां हो जाएगी

वानखेडे स्टेडियम में दारू पीकर हंगामा मचाने के आरोपों से घिरे शाहरुख ने आखिरकार महाराष्ट्र क्रिकेट एसोसिएशन यानि एमसीए के अधिकारियों को मना ही लिया। इस मामले में शुक्रवार को हुई बैठक में शाहरुख खान पर मैदान में घुसने पर सिर्फ पांच साल का प्रतिबंध लगाया गया है। पहले की खबरों में आजीवन प्रतिबंध की बात की गई थी

एमसीए अध्यक्ष विलासराव देशमुख की अध्यक्षता में हुई बैठक के बाद पत्रकारों को इस बारे में जानकारी दी गई। देशमुख ने इसकी घोषणा करते हुए कहा कि शाहरुख खान अगले पांच वर्षो तक वानखेडे स्टेडियम में नहीं घुस सकते हैं। देशमुख ने कहा कि मैदान में शाहरुख का रवैया नियमों के खिलाफ था इसलिए अब वह दर्शक के रूप में भी स्टेडियम में नहीं जा सकेंगे।

गौरतलब है कि शाहरुख खान ने बुधवार रात एमसीए के अधिकारियों के साथ जम कर बदसलूकी की थी और उनके खिलाफ अभद्र भाषा का इस्तेमाल भी किया था। उनके इस व्यवहार को एमसीए अध्यक्ष एवं केंद्रीय मंत्री विलासराव देशमुख ने भी काफी गंभीरता से लिया था। हालांकि शाहरुख खान ने अपनी सफाई देते हुए कहा कि उन्होंने घटना के समय शराब नहीं पी रखी थी।

उधर समाचार एजेंसी एएफपी ने जो तस्वीरें जारी की हैं उसमें साफ दिख रहा है कि शाहरुख की आंखें नशे से बोझिल हैं। खबरों की मानें तो शाहरुख को कड़ी सजा देने को लेकर एमसीए में ही दो गुट बन गए थे। एमसीए के जिन अधिकारियों को शाहरुख के गुस्से का सामना करना पड़ा वो सब किंग खान को कड़ी सजा के पक्ष में थे। इस गुट में एमसीए के कोषाध्यक्ष रवि सावंत, संयुक्त सचिव नितिन दलाल और छह कार्यकारी सदस्य शामिल थे।

बहरहाल,  प्रतिबंध के फैसले को दोनों ही गुट अपनी अपनी जीत मानने में जुटे हैं। उधर शाहरुख के करीबी माने जाने वाले बीसीसीआई के उपाध्यक्ष राजीव शुक्ला ने कहा है कि मामला अभी खत्म नहीं हुआ है। शुक्ला का कहना है कि इस बारे में अंतिम फैसला बीसीसीआई लेगी।

Facebook Comments Box

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *