ताज़ा खबरें

बालविवाह रोकने की यह कैसी मुहिम.. ऊर्जा सुरक्षा और प्रौद्योगिकी सबसे पहली ज़रूरत.. सत्ता की वफादार पुलिस और बलि का बकरा आम जनता.. दम तोड़ती अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता.. गरीब अडाणी का तो सत्यानाश हो गया.. प्रदूषण से दुनिया के शतरंज खिलाड़ियों के खेल पर खतरा.. महिला सशक्तिकरण से अधिक महिलाओं के नेतृत्व की ज़रूरत.. अडानी बना सरकार के गले की हड्डी..

उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले में एक स्कूल के प्रधानाचार्य के खिलाफ अपने ही स्कूल में पढ़ने वाली कक्षा की 11 की छात्रा (17) को नशीला पदार्थ देकर उसके साथ कथित तौर पर दुष्कर्म करने का मामला सामने आने पर बलात्कारी के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।

पुलिस सूत्रों ने रविवार को बताया कि हस्तिनापुर थाना क्षेत्र के एक गांव में स्थित स्कूल में तैनात प्रधानाचार्य धनपाल (50) पिछली 23 नवंबर को स्कूल की तरफ से नौ छात्राओं को लेकर वृंदावन टूर पर गए थे।

उन्होंने बताया कि वृन्दावन में ठहरने के लिए एक होटल में दो कमरे लिए गए, जिनमें से एक कमरे में आठ छात्राओं को ठहराया गया, जबकि दूसरे कमरे में प्रधानाचार्य ने दुष्कर्म की शिकार नाबालिग पीड़िता को कथित रूप से अपने कमरे में रखा।

सूत्रों के मुताबिक, आरोप है कि रात में छात्रा को खाने में नशीली पदार्थ दिया गया, जिसके बाद प्रधानाचार्य धनपाल ने उसके साथ कथित तौर पर दुष्कर्म किया। उन्होंने बताया कि आरोपी प्रधानाचार्य ने दुष्कर्म की शिकायत करने पर छात्रा को कथित तौर पर परीक्षा में फेल करने, स्कूल से निकालने और जान से मारने की धमकी दी।

सूत्रों के अनुसार, 24 नवंबर को सभी छात्राएं घर आ गईं। उन्होंने बताया कि प्रधानाचार्य की कथित धमकी के कारण पहले तो छात्रा मामले को छिपाती रही, लेकिन बाद में उसने परिजनों को इससे अवगत कराया।

हस्तिनापुर थाना प्रभारी बच्चू सिंह ने बताया कि पीड़िता के पिता की तहरीर के आधार पर पुलिस ने शनिवार रात प्रधानाचार्य के खिलाफ बलात्कार के आरोप में मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

सिंह के मुताबिक, छात्रा के बयान दर्ज कर लिए गए हैं और आरोपी प्रधानाचार्य की गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि घटना की जांच के लिए पुलिस की एक टीम वृंदावन स्थित होटल के सीसीटीवी फुटेज लेने जाएगी।

Facebook Comments Box

Leave a Reply